बिहारियों के जुगाड़ के आगे तो बड़े बड़े घुटने टेक देते हैं । ये रेलवे क्या चीज़ है । बिहारियों के जुगाड़ के आगे नतमस्तक हुआ रेलवे : प्लेटफॉर्म टिकट का नही दे रहे 50 रूपया। कहते हैं जहाँ चाह है वहां राह है । लेकिन ये भी एक कहावत है कि जहाँ बिहारी है वहां जुगाड़ है । बिहारी चांद पर भी तो जुगाड़ निकाल ही लेते हैं ।

ऐसा ही एक जुगाड़ कल से सोशल मीडिया में फैल रहा है । असल में प्‍लेटफॉर्म पर भीड़ कम करने के लिये रेलवे ने अपने कई स्‍टेशनों पर प्‍लेटफॉर्म टिकट 50 रूपया कर दिया है । लेकिन बिहारियों ने इसका भी जुगाड़ कर लिया है और वो प्‍लेटफॉरर्म टिकट का दस रूपये ज्‍यादा नहीं दे रहे हैं और रेलवे कुछ कर भी नही पा रहा ।

Loading...

मान लीजिये आप अपने किसी मित्र को छोड़ने के लिये रेलवे स्‍टेशन जा रहे हैं । मित्र को दिल्‍ली जाना है और उसके पास पहले से ई-टिकट है । लेकिन चुकि आप साथ हैं तो आपको नियम से प्‍लेटफॉर्म टिकट लेना है जिसकी कीमत वर्तमान में 50 रूपये होगी, वो भी 2 घंटे के लिये वैध है।

लेकिन बिहारी क्‍या करते हैं वो प्‍लेटफॉर्म टिकट लेने की बजाय उस स्‍टेशन से नजदीक किसी भी स्‍टेशन का टिकट कटा लेते हैं । जिसके लिये उसे 5 से 10 रूपये खर्चने पड़ते हैं । और समय की पाबंदी भी नहीं होती । यानी कम पैसे में ज्‍यादा देर तक आप प्‍लेटफॉर्म पर घुम सकते हैं और आपको कोई कुछ नहीं कहेग ।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here