PATNA : कोरोना संकट के बीच बिहार बोर्ड ने बड़ा फैसला लिया है. बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित की गई मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में फेल हुए दो लाख से अधिक छात्रों को इस साल पास घोषित कर दिया गया है.

इसका साफ मतलब है कि उन्हें अब कंपार्टमेंटल परीक्षा नहीं देनी पड़ेगी. सरकार ने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि कोरोना संकट के कारण कंपार्टमेंटल की परीक्षा नहीं ली गई थी. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने बताया कि मैट्रीक और इंटर की परीक्षा में ऐसे कई छात्र फेल घोषित किए गए थे जो सिर्फ एक या दो विषय में फेल थे. और ऐसे स्टूडेंट्स को नियमों के मुताबिक कंपार्टमेंटल परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाती है.

वह स्टूडेंट कंपार्टमेंटल परीक्षा में पास हो जाते हैं तो फिर वह पास घोषित कर दिए जाते हैं. इस बार भी बिहार बोर्ड ने कंपार्टमेंटल परीक्षा के लिए डेट निकाली थी. लेकिन कोरोना के इस दौर में परीक्षा मुश्किल होता देख बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने राज्य सरकार से दिशा-निर्देश मांगा था. जिसके बाद सरकार ने इस पर विचार विमर्श करते हुए सभी फेल स्टूडेंट को पास घोषित करने का फैसला लिया है. सरकार के इस फैसले के बाद अब दो लाख 14 हजार से ज्यादा छात्र पास हो जाएंगे.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here