परिवहन विभाग व्यावसायिक और कृषि उपयोग वाले वाहन मालिकों को बड़ी राहत दे सकता है। विभाग सर्वक्षमा योजना के तहत कृषि उपयोग वाले वाहन मालिक और गरीब ई-रिक्शा चालकों को टैक्स में एकमुश्त कर छूट देने की तैयारी कर रहा है। चुनावी वर्ष में सरकार किसान और गरीब वाहन मालिकों को लक्ष्य बनाकर योजना शुरू करने जा रही है। सरकार की इस पहल से धान और गन्ना का भुगतान पाने वाले किसान एकमुश्त ट्रैक्टर और ट्रॉली का टैक्स जमा कर सकते हैं। इसी तरह वर्तमान में हजारों ई-रिक्शा चालक भी योजना का लाभ लेकर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

खासकर किसानों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए परिवहन विभाग नवंबर से शुरू सर्व क्षमा योजना की मियाद 12 फरवरी को खत्म होने के बाद फिर से बढ़ाने की कवायद शुरू कर दी है।

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने टैक्स के बोझ तले दबे लाखों किसान की परेशानी को ध्यान रखकर सर्व क्षमा योजना 15 नवंबर से शुरू की थी। इससे ऐसे किसान जिनके ट्रैक्टर टेलर का वर्षो का टैक्स बकाया है वे सर्वक्षमा योजना के तहत 25 हजार रुपये जमा कर अपने बकाए से मुक्ति पा सकते हैं। इसके लिए वाहन पर जो भी अर्थदंड था वह सर्वक्षमा योजना के तहत माफ करने का प्रावधान किया गया था।

यह होगा प्रावधान : सभी प्रकार के निबंधित या अनिबंधित व्यावसायिक या मालवाहक वाहन जो एक साल पूर्व तक टैक्स डिफॉल्टर हैं, को बकाया कर के अतिरिक्त 30 प्रतिशत अर्थदंड जमा करने पर नियमित करने का प्रावधान था। जबकि अगर वाहन एक साल से अधिक डिफॉल्टर है तो उसे बकाया टैक्स के अतिरिक्त 50 फीसद अर्थदंड जमा करने पर, उस वाहन पर जो भी अर्थदंड होगा सर्वक्षमा दी जा रही थी। इसी तरह फिटनेस के कारण डिफॉल्टर हैं तो इसमें भी फीस को घटा दिया गया था।

परिवहन विभाग सर्वक्षमा योजना के जरिए देगा राहत, चुनावी साल में गरीबों और किसानों पर होगी मेहरबानी, अर्थदंड से भी छूट संभव

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here