भारतीय क्रिकेटर उन्मुक्त चंद इन दिनों अमेरिका में रन बरसा रहे हैं. कभी अंडर-19 भारतीय टीम की कप्तानी कर चुके उन्मुक्त ने अमेरिका से खेलने के लिए फर्स्टक्लास क्रिकेट से संन्यास तक ले लिया. उन्मुक्त ने हालांकि यह कदम प्रोफेशनल क्रिकेट के लिए उठाया है. लेकिन हमारे यहां ऐसे भी कई क्रिकेटर हुए हैं, जिन्होंने ना सिर्फ भारत के लिए खेला, बल्कि वे इंग्लैंड या पाकिस्तान की ओर से भी मैदान पर उतरे. आज हम ऐसे ही चार क्रिकेटरों की बात कर रहे हैं. इनमें से तीन क्रिकेटरों ने तो भारत छोड़ पाकिस्तान (Indian cricketers who played for Pakistan) का दामन थाम लिया था.

1. इफ्तिखार अली

इफ्तिखार अली खान पटौदी भारत और इंग्लैंड दोनों टीमों के लिए टेस्ट मैच खेले. हालांकि, दूसरे विश्व युद्ध के चलते उनका करियर ज्यादा लंबा नहीं चल पाया. उन्होंने 14 साल के करियर में 6 टेस्ट मैच खेले.

भारत में पैदा हुए इफ्तिखार इंग्लैंड पढ़ने गए. वे पढ़ाई के साथ-साथ क्रिकेट भी खेलते. उनका बेहतरीन खेल देखकर इंग्लैंड ने उन्हें राष्ट्रीय टीम में शामिल कर लिया. सीनियर पटौदी के नाम से लोकप्रिय हुए ने इंग्लैंड के लिए 3 टेस्ट मैच में 144 रन बनाए. एक शतक भी लगाया.
इफ्तिखार अली
इफ्तिखार अली खान पटौदी दूसरे विश्वयुद्ध के बाद भारत के लिए भी खेले. उन्होंने 3 टेस्ट मैच में भारत की कप्तानी की. इनमें से एक में भारत को हार मिली. 2 टेस्ट ड्रॉ रहे. सीनियर पटौदी के बेटे मंसूर अली खान भी भारत के लिए खेले, जिनकी गिनती भारत के पहले दबंग कप्तान के तौर पर होती है.

2. गुल मोहम्मद

गुल मोहम्मद भारत के दूसरे क्रिकेटर हैं, जो दो देश के लिए भी टेस्ट मैच खेले. यह खिलाड़ी भारत के लिए 1946 से 1952 के बीच 8 टेस्ट मैच खेला. साल 1952 में गुल मोहम्मद पाकिस्तान चले गए.

गुल मोहम्मद ने भारत के लिए 1952 में अपना अंतिम टेस्ट मैच खेला. इसके बाद वे 1956 में पाकिस्तान की ओर से उतरे. वे पाकिस्तान के लिए सिर्फ एक टेस्ट मैच खेल पाए. उनका ओवरऑल करियर 9 टेस्ट मैचों का रहा.

3. अब्दुल हफीज

अब्दुल हफीज भी गुल मोहम्मद की तरह दो देशों से खेले. वे भारत के लिए 3 टेस्ट मैचों में मैदान पर उतरे. इसके बाद वे पाकिस्तान चले गए. अब्दुल हफीज पाकिस्तान के लिए 23 टेस्ट खेले. उनका ओवरऑल करियर 26 टेस्ट मैचों का रहा.

4. आमिर इलाही

आमिर इलाही ऐसे तीसरे क्रिकेटर हैं, जो भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के लिए खेले. वे 1947 में भारत की ओर से एक टेस्ट मैच खेले. इसके बाद वे पाकिस्तान चले गए और पांच और टेस्ट मैचों में उतरे. उनका ओवरऑल करियर 6 टेस्ट मैचों का रहा.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here