मुंबई | ईडी ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर, पत्नी और तीन बेटियों के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ा दिया है। शनिवार को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ की। यह पूछताछ डीएचएफएल घोटाले को लेकर हो रही है। इसे यस बैंक ने नियम के विरुद्ध कर्ज दिया गया था। बाद में कर्ज एनपीए में तब्दील हो गया।

पटना | यस बैंक संकट का असर बिहार के जमाकर्ताअाें पर भी पड़ा है। यस बैंक में बिहार के 75 हजार ग्राहक हैं। इनके करीब 102 अरब रुपए बैंक में जमा हैं। रिजर्व बैंक द्वारा यस बैंक से निकासी सीमा का एेलान होने के बाद इन ग्राहकों का निवेश फंस गया है। वहीं आंकड़े के मुताबिक बैंक का राज्य में 10 अरब से ज्यादा का लोन भी बकाया है। इस अफरातफरी के कारण बड़ी राशि जमा वाले ग्राहक असमंजस अैर तनाव में हैं। ग्राहकों को सही जानकारी भी नहीं दी जा रही है।

Loading...

इधर, यस बैंक की एग्जीबिशन रोड और बोरिंग कैनाल रोड स्थित शाखा में शनिवार को निकासी करने वालों की भीड़ लगी रही। ज्यादातर ग्राहक 50 हजार की निकासी का चेक लेकर पहुंचे थे। काफी देर तक अफरातफरी के बाद ग्राहकों का चेक लेकर टोकन देते हुए इन्तजार करने को कहा गया। शाम तक चेक की राशि का भुगतान किया जाता रहा। लेकिन, एटीएम से निकासी और नेट बैंकिंग सेवा पूरी तरह ठप रही।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here