ड्रग्स केस में जांच एजेंसी के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त और असिस्टेंट डायरेक्टर ऋषिकेश पवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. लंबे समय से जांच एजेंसी से भागने की कोशिश कर रहा पवार मंगलवार को एनसीबी के हत्थे चढ़ गया है.

जानकारी के मुताबिक जनवरी 8 से ही एनसीबी ऋषिकेश की तलाश में जुटी थी. उस पर सुशांत सिंह राजपूत को ड्रग्स सप्लाई करने का आरोप था. एक्टर के यहां काम करने वाले दीपेश सावंत ने पूछताछ के दौरान ऋषिकेश पवार का नाम कई बार लिया था.

Loading...

कोर्ट ने खारिज कर दी थी अग्रिम जमानत

पिछले साल सितंबर के महीने में ऋषिकेश पवार से सवाल-जवाब भी किए गए थे. हालांकि, गिरफ्तारी से बचने के लिए ऋषिकेश कई कानूनी दांव-पेंच खेला. कोर्ट में अग्रिम जमानत की अपील की लेकिन उसे किसी भी तरह की राहत नहीं मिली.

ये भी पढ़ेंः सुशांत के बर्थ एनिवर्सरी के लिए फूल खरीदने निकली रिया का फोटो ग्राफर ने किया पिछा, तो कर दी ऐसा कमेंट

बता दें कि कोर्ट से मिले झटके के बाद एनसीबी एक्शन में आई. चेंबूर वाले घर पर धावा बोलते ही वहां से ऋषिकेश फरार हो गया. एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कहा कि ऋषिकेश पवार C.R. no 16/20 में आरोपी है. वो सुशांत के ड्रीम प्रोजेक्ट का असिस्टेंड डायरेक्टर भी था. कई सबूत इस बात की पुष्टि करते हैं कि पवार सुशांत को ड्रग्स सप्लाई किया करता था. उसके घर की तलाशी के दौरान एक लैपटॉप भी बरामद किया गया है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here