बॉलीवुड एक्टर दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत मिस्ट्री केस की जिम्मेदारी अब पूरे तरीके से सीबीआई को दे दी गई है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा यह भी स्पष्ट रूप से कह दिया गया है कि अगर आगे कोई सुशांत सिंह राजपूत से जुड़े f.i.r. किया जाता है तो उसकी जांच भी पूरी तरीके से सीबीआई ही करेगी। इसमें किसी राज्य के पुलिस को दखल देने की सख्त मनाही है।
2 महीने से अधिक होने के बावजूद भी मुंबई पुलिस इस केस में कोई पुख्ता सबूत नहीं इकट्ठाकर पाई थी। और यहां तक की मौत से ठीक 15 मिनट बाद मुंबई पुलिस के अधिकारियों द्वारा यह जानकारी दे दी गई थी कि सुशांत सिंह की मौत एक सुसाइड केस है। सीबीआई के आ जाने से सुशांत के चाहने वालों में उत्साह की लहर है । वहीं दूसरी तरफ मुंबई सरकार और मुंबई पुलिस थोड़ी नाराज दिख रही है ।

मुंबई पुलिस ने यहां तक कह दिया कि अगर सीबीआई के अधिकारी 7 दिन से ज्यादा के लिए मुंबई में आते हैं तो उन्हें कोरेंटिन कर दिया जाएगा । बीएमसी कमिश्नर ने लेकिन अब यह ट्वीट किया है कि अगर सीबीआई 7 दिन से कम के लिए यहां रहती है तूने कोरेंटिन नहीं रहना होगा और अगर उन्हें ज्यादा रहना है तो इसके लिए उन्हें एक मेल एप्लीकेशन लिखना होगा कि उन्हें कोरेंटिन से छूट दी जाए। सूत्रों का यह भी कहना है कि जब सीबीआई ने मुंबई पुलिस से पूरी जांच की रिपोर्ट मांगी तो उन्होंने इसे मराठी में देने की बात कही |

शुरुआत से ही इस केस में मुंबई पुलिस सहयोग ना करने के लिए बदनाम रही है l हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है और सुप्रीम कोर्ट ने यह साफ तौर से कह दिया है कि अब यह पूरी जांच सीबीआई करेगी और मुंबई पुलिस को इसमें सहयोग करना होगा l सूत्रों की मानें तो सीबीआई की टीम मुंबई पहुंच चुकी है और जल्दी वह सुशांत के उस घर का मुआयना भी करेगी जहां वह मृत पाए गए थे l जल्द ही उसी कमरे में क्राइम सीन रीक्रिएट किया जाएगा और डमी टेस्ट भी किया जाएगा । जो भी लोग मौका ए वारदात पर मौजूद थे उनका बयान फिर से लिया जाएगा जिसमें रिया चक्रवर्ती उनके परिवार और अन्य लोग भी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here