यह जो मातृभूमि पर जान निछावर करने का जज्बा है वह भारतीय सेना में साफ झलकता है। आज भारत मां के एक और लाल संतोष कुमार यादव अपने देश की सुरक्षा में शहीद हो गए। संतोष कुमार भारतीय नौसेना में केरल के कोच्चि स्थित नौसेना एयरवेज पर पेट्टी अफसर के पद पर तैनात थे। यह दुखद घटना तब हुआ जब संतोष कोच्चि एयरवेज से पावर ग्लाइडर ने आईएएस गरुड़ से नियमित उड़ान भरी थी। तभी ग्लाइडर दुर्घटनाग्रस्त हो गया और संतोष कुमार यादव समेत नौसेना के दो अधिकारियों की मौत हो गई।

रक्षा प्रवक्ता द्वारा दी गई जानकारी से यह पता चला है कि नौसेना के ग्लाइडर ने नियमित प्रशिक्षण के दौरान i.n.s. गरुड़ से उड़ान भरी थी ग्लाइडर सुबह करीब 7:00 बजे नौसेना अड्डे के पास कुमकुम पार्टी पुल के निकट हादसे का शिकार हो गया दक्षिणी नौसेना कमान ने इस हादसे के संबंध में बोर्ड ऑफ इंक्वायरी का भी आदेश दिया है।मौत पर शोक व्यक्त करते हुए उन्होंने यह भी बताया कि ग्लाइडर में समेत लेफ्टिनेंट राजीव झा और पेटी ऑफिसर सुनील कुमार को आईएनएचएस संजीवनी ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है।

शहादत की खबर पर परिवार ही नहीं पूरा गांव का हाल बेहाल है। परिवार रो-रो कर अपना दुख जाहिर कर रहा है । जानकारी के मुताबिक संतोष कुमार ने 2011 में नौ सेना ज्वाइन की थी और उनकी पहली पोस्टिंग उड़ीसा में हुई थी उसके बाद वह मुंबई और फिर केरल में ज्वाइन किए।

परिवार ने यह भी बताया कि संतोष कुमार एक होनहार लड़का था, बड़े ही धूमधाम से नवंबर में तिलक और दिसंबर में बक्सर जिले में ही उनकी शादी तय हुई थी। मौत की अचानक खबर सुनते ही दोनों परिवारों पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। पूरा परिवार बिलख बिलख कर रो रहा है।
पोस्टमार्टम और अन्य प्रक्रिया पूरे होने के बाद शहीद संतोष कुमार का पार्थिव शरीर उनके परिजनों को सौंप दिया जाएगा, पूरे ही गांव में मातम का माहौल है, और गांव का बच्चा-बच्चा उनके अंतिम दर्शन और उन्हें सलामी देने का इंतजार कर रहा है । गांव वालों ने भारी स्वर में यह भी कहा कि हमें अपने बेटे के खोने का गम है तो वहीं भारत मां की बेटे की शहादत पर गर्व है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here