अभी-अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि कोरोना को लेकर पहले चीन के राष्ट्रपति और राजदूत पर केस दर्ज करवाया गया था। अब इसी बीच मोदी सरकार के केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन पर भी बिहार के एक युवक ने एफ आई आर दर्ज करवाया है।

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन पर मुकदमा दायर किया गया है. हर्षवर्धन पर धारा 406, 506, 420, 120B के तहत मुकदमा दायर किया गया है. जिले के सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने यह मुकदमा दायर किया है. तमन्ना हाशमी का कहना है कि उन्होंनें 17 मार्च को टीवी न्यूज़ चैनलों पर देखा कि कोरोना वायरस के कारण देश में मास्क और सेनेटाइजर की भारी कमी है.

कोरोना वायरस से बिहार सहित पूरा देश भयभीत है, दहशत का माहौल है. आम जन अपनी सुरक्षा को लेकर सरकार के तरफ टकटकी लगाए हुए है और बाज़ार से मास्क और सेनेटाइजर की कालाबाजारी धड़ल्ले से जारी है. सरकार आम जनता तक मास्क और सेनेटाइजर मुहैया करवाने में विफल है. जहां उपलब्ध है वहां दस गुणे दाम पर कालाबाजारी कर बेचा जा रहा है. सरकार इसे रोकने में कामयाब नहीं हो पा रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री कालाबाज़ारी को बढ़ावा दे रहे हैं. जिसके कारण स्वास्थ्य मंत्री पर मुकदमा दायर किया गया है. मामले की सुनवाई 30 मार्च को होगी.

बता दें कि इससे पहले मुजफ्फरपुर एसडीजीएम कोर्ट में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के खिलाफ वकील सुधीर कुमार गुप्ता ने चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग और भारत में चीन के राजदूत वेई डोंग के खिलाफ मुकदमा दायर कर चुके हैं. इस मामले में भी 11 अप्रैल को सुनवाई होनी है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here