असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष के उम्र में निधन हो गया. वह अस्पताल में भर्ती थे. उन्होंने गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में सोमवार शाम अंतिम सांस ली. बता दें कि उनकी स्थिति पहले से ही नाजुक चल रही थी. यही वजह है कि राज्य के सीएम अपना डिब्रूगढ़ दौरा बीच में ही छोड़ गुवाहाटी वापस लौट आए थे.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Loading...

तरूण गोगोई के निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनके परिवार और समर्थकों को सांत्वना व्यक्त की है. पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, “श्री तरूण गोगोई जी एक लोकप्रिय नेता थे और वरिष्ठ प्रशासक थे, जिन्हें असम और केन्द्र का कई वर्षों का राजनीतिक अनुभव था. इस दुख की घड़ी में मेरी सांत्वना उनके परिवार और समर्थकों के साथ है. ओम शांति.” “

गुवाहाटी लौट रहे सीएम

वहीं, इससे पहले राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल अपना कार्यक्रम रद्द कर डिब्रूगढ़ से गुवाहाटी लौट रहे हैं. उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा है कि तरुण गोगोई मेरे पिता समान हैं. उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘बीच में सारे कार्यक्रम रद्द कर डिब्रूगढ़ से गुवाहाटी जा रहा हूं ताकि तरुण गोगोई और उनके परिवार के साथ रह सकूं क्योंकि पूर्व मुख्यमंत्री की तबीयत बिगड़ गई है.’ तरुण गोगोई साल 2001 से 2016 तक असम के मुख्यमंत्री थे.

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार को चेताया, अगर 1 महीने के अंगर 19 लाख नौकरी नहीं मिली तो..

बता दें कि शनिवार को तबीयत बिगड़ने के उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. गोगोई 25 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये थे. अगले दिन उन्हें जीएमसीएच में भर्ती कराया गया था. इसके बाद 25 अक्टूबर को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here