HARIYANA : कहते हैं पिता एक ऐसा शब्द होता है जिसमें बच्चे की सारी दुनिया समाई होती है. बच्चा जब अपने पिता के गोद में होता है तो दुनिया में खुद को सबसे महफूज पाता है. लेकिन इसके ठीक उलट एक मामला हरियाणा के यमुनानगर से सामने आया है.जहां एक शख्स ने पिता शब्द को कलंकित कर दिया है.

युपी की थाना भवन का रहने वाले एक दंपत्ती की शादी सात साल पहले हुई थी. पर उनका कोई बच्चा नहीं था. कुछ दिन पहले दंपत्ती हरियाणा के यमुनानगर आ गया और मजदूरी करने लगा. सात साल बाद उनके घर 24 सितंबर 2020 को बच्ची ने जन्म लिया.

Immediately Receive Daily CG Newspaper Updates

लेकिन बेटे की चाह बाले पिता ने जब बेटी को देखा तो आपा खो दिया. कहने लगा इसके लिए दहेज कहां से लाएगा.28 दिसंबर की रात बाप नशे में घर पहुंचा और बच्ची के पास ही सो गया. मां की नींद सुबह 3 बजे खुली तो देखा कि पिता ने दोनों पैर बेटी पर रख दिया है और बच्ची मर गई है. इसके बाद पिता घर छोड़कर भाग गया. वहीं मां थाने पहुंची और पति के खिलाफ पुलिस कंप्लेन लिखाई.

महिला ने बताया कि उनकी बेटी पैदा हुई लेकिन पति को यह पसंद नहीं था. पति को बेटे की चाह थी और इसी कारण उसने पैरों से दबाकर बेटी की हत्या कर दी. 4 दिन की मासूम अपने पिता के पैरों का वजन नहीं झेल सकी और उसकी मौत हो गई.
Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here