DESK : अलवर में सामूहिक सुसाइड करने वाले कारोबारी के पूरे परिवार का चिता जब एक साथ निकला तब पूरा इलाका रो पड़ा. घरवालों के साथ ही साथ पूरा मोहल्ला भी गमगीन था. कारोबारी यशवंत के छोटे भाई ने अपने भाई और भाभी को मुखाग्नी दी तो वहीं बेटे अजीत और भारत को उनके चचेरे भाई हिमांशु ने मुखाग्नी दी.

Loading...

सुसाइड के दूसरे दिन राधिका विहार कॉलोनी में सन्नाटा पसरा रहा. पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया और सुसाइड नोट के आधार पर कारोबारी राजेंद्र बियानी से पूछताछ कर रही है. पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम, मुआयना और सुसाइड नोट से साफ है कि पूरे परिवार ने सुसाइड किया है. मृतकों में राधिका बिहार में रहने वाले यशवंत(45 साल)उनकी पत्नी ममता(41साल) बेटा अजीत(23 साल) और भारत (20 साल) शामिल है.
Get City News Updates

पुलिस मुख्य रूप से सुसाइड नोट पर अनुसंधान कर रही है लेकिन इस बात का भी पता लगाया जा रहा है कि कर्ज माफिया के धमकी से परेशान होकर पूरे परिवार ने सुसाइड किया? चारों का शव जब अलवर के घर पर पहुंचा तो मोहल्ले वालों की आंखों में भी आंसू आ गए.

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि यशवंत सोनी का परिवार खानदानी रईस था और अलवर में इनका सोने चांदी का व्यापार का था. पिता की मौत के बाद यशवंत सोनी अपने परिवार सहित जयपुर में बस गए और व्यापार को आगे बढ़ाया था. जयपुर में भी इनका व्यापार काफी अच्छा चल रहा था. ज्वैलर्स व्यवसाय में इनका बड़ा नाम था लेकिन कर्ज से परेशान होकर पूरे परिवार ने सुसाइड कर लिया.

Immediately Receive Daily CG Newspaper Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here