सीकर. इसे जिम्मेदारों की लापरवाही कहें या व्यवस्थाओं की खामियां, प्रदेश के हजारों कामगारों को रोजाना चपत लग रही है। मामला है जयपुर से दुबई जाने की फ्लाइट शुरू होने का। एयरपोर्ट अॅथोरिटी की एक लापरवाही रोजी-रोटी की तलाश में दुबई जाने वाले कामगारों पर भारी पड़ रही है। जयपुर एयरपोर्ट पर कोरोना की आरएटी (रेपिट एंटीजन टेस्ट) जांच शुरू नहीं होने से यहां से दुबई के लिए फ्लाइट शुरू नहीं हो पा रही है।

शेखावाटी अंचल के हजारों कामगारों के साथ बांसवाड़ा, डूंगरपुर, टोंक, भरतपुर सहित कई जिलों के कामगारों की परेशानी बढ़ गई है। यहां से आरएटी जांच नहीं होने से दिल्ली जाकर जेब कटवानी पड़ रही है। इसको लेकर कामगारों व इस व्यवसाय से जुड़े लोग नागरिक उड्डयन मंत्रालय से गुहार भी लगाकर थक चुके हैं।

यह है बड़ी समस्या

दरअसल कोरोना काल में विदेश जाने पर लगा प्रतिबंध हटते ही यूएई (दुबई) सरकार ने भी अपने यहां फ्लाइट शुरू कर दी। इसके लिए यूएई सरकार ने आरटीपीसीआर जांच के साथ आरएटी जांच भी अनिवार्य कर दी। जयपुर एयरपोर्ट पर आरएटी जांच की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इससे पहले तो दुबई के लिए फ्लाइट बुकिंग कैंसिल होने लगी, इसके बाद एयरलाइन्स से दुबई के लिए बुकिंग करना ही बंद कर दिया।

जिससे दुबई जाने वाले कामगारों के सामने परेशानी खड़ी हो गई। उनको दिल्ली जाकर दुबई के लिए फ्लाइट पकडऩी पड़ रही है। इससे उनको तीन गुना ज्यादा रुपए खर्च करना पड़ रहा है। जबकि जयपुर एयरपोर्ट पर आरएटी जांच के लिए सिर्फ एक काउंटर खोलने की जरूरत है।

इधर, मस्कट की फ्लाइट शुरू

दूसरी तरफ मस्कट (ओमान) के लिए फ्लाइट बदस्तूर जारी है। पांच अगस्त को दुबई के लिए फ्लाइट शुरू हुई थी। नौ अगस्त को एयर इंडिया की पहली फ्लाइट की बुकिंग हुई थी। आरएटी रिपोर्ट अनिवार्य होने के कारण फ्लाइट में सभी बुकिंग कैंसिल करनी पड़ी। इधर, यूएई सरकार ने धीरे- धीरे कामगारों के लिए रास्ते खोलने शुरू कर दिए। वहां की सरकार ने विजिट वीजा को अनुमति दे दी है। अब सिर्फ नए एम्पलाइमेंट वीजा को अनुमति देनी बाकी है।

ऐसे समझें नुकसान का गणित

जयपुर से दुबई के लिए तीन उड़ान होती है। इसमें प्रतिदिन पांच सौ यात्री सफर करते हैं। इनको दिल्ली से दुबई जाने के लिए तीन गुना ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है। सीकर से जयपुर के जहां टैक्सी किराए के करीब तीन हजार रुपए देने होते हैं, वहीं दिल्ली से फ्लाइट पकडऩे के लिए उन्हें दस हजार रुपए तक खर्च करने पड़ रहे हैं।

जयपुर एयरपोर्ट पर जल्द शुरू हो आरएटी जांच

जयपुर एयरपोर्ट पर इस बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। अभी लोगों को दिल्ली ही जाना पड़ रहा है । इससे उनका ट्रेवल महंगा हो गया है। जिम्मेदार जल्द जयपुर एयरपोर्ट पर आरएटी जांच का काउंटर शुरू करवाएं, ताकि राजस्थान के यात्रियों को दिल्ली ना जाना पड़े। हालांकि इसको लेकर नागरिक उड्डयन मंत्री, अधिकारियों व एयरपोर्ट अॅथिरिटी के जिम्मेदारों को मेल व ट्विटर के जरिये कई बार सूचित किया जा चुका है।

इमरान खान कासली, विदेश मामलों के जानकार व कोषाध्यक्ष, राजस्थान रिक्रूटिंग एजेंट्स वेलफेयर सोसाइटी

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here