दिल्ली दं’गे में बुर्का पहनकर पुलिस पर हम’ला करने वाली 6 महिलाओं की हुई पहचान, गिरफ्तारी जल्द

दिल्ली दं’गों में पुलिस के हाथ अहम जानकारी लगी है। क्राइम ब्रांच SIT ने चाँद बाग इलाके में हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल म’र्डर केस, DCP अमित शर्मा और एसीपी अनुज कुमार पर हम’ले में शामिल 6 महिलाओं की पहचान की है।एसआईटी जल्द ही इन महिलाओं (Burqa Clad Women Identified) को हिरासत में लेकर पूछताछ कर सकती है। इन महिलाओं के ठिकानों पर छापे मा’रे जा रहे हैं। बता दें कि करीब 70 से 80 महिलाएँ चाँद बाग इलाके में घटना के वक्त मौजूद दिखी हैं। जिसमे ज्यादातर महिलाओं ने पुलिस टीम पर हम’ला किया था।

हम’ला करने वाली अधिकतर महिलाओं ने बुर्के (Burqa Clad Women Identified) पहन रखे थे, इसलिए उन्हें पकड़ना पुलिस के लिए मुश्किल हो रहा है। हालाँकि, मौके से मिले वीडियो फुटेज और सर्विलांस के जरिए 6 महिलाओं की पहचान कर ली गई है, जिनको लेकर पुलिस जल्द खुलासा और गिरफ्तारियाँ कर सकती है।

दिल्ली पुलिस दं’गों में शामिल अपराधियों की तलाश में लगातार जुटी हुई है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली दं’गों के दौरान IB के अंकित शर्मा की निर्मम तरीके से ह’त्या कर दी गई थी। इस मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कल (मार्च 12, 2020) सलमान उर्फ मुल्ला उर्फ़ नन्हे को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तारी के बाद मालूम चला कि मुल्ला ने न केवल अन्य दं’गाइयों के साथ मिलकर अंकित शर्मा को ताहिर हुसैन के घर में खींचा, बल्कि उन्हें जान से मा’रने से पहले उनके मुँह पर काला कपड़ा डाला और साथ ही उन्हें नि’र्वस्त्र भी किया। सलमान के मुताबिक दं’गाइयों ने उनका मजहब जानने के लिए उनके कपड़े उतारे। धर्म पुख्ता कर उन्हें चा’कूओं से गोद डाला।

सलमान ने बताया कि उसने खुद IB के अंकित शर्मा पर 14 बार चा’कू से वा’र किए। सलमान ने पुलिस को पूछताछ में बताया, “ह’त्या करने वाले सभी लोगों कोपता था कि अंकित IB में काम करते हैं। साजिश कर उनकी ह’त्या की गई। पहले उन्हें घसीटकर ताहिर हुसैन के घर ले गए और फिर 1 दर्जन से भी ज्यादा लोगों ने चा’कुओं से वा’र किया।”

इससे पहले, दिल्ली में हुए दं’गों पर राज्यसभा में गुरुवार (मार्च 12, 2020) को जोरदार बहस हुई। इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाहने दिल्ली दं’गों पर विपक्ष के सवालों के जवाब दिए। राज्यसभा में अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में गहरी साजिश के तहत दं’गा कराया गया। उन्होंने कहा कि कुछ सोशल मीडिया अकाउंट्स ने दं’गे के दौरान सिर्फ नफरत फैलाने का काम किया।

शाह ने कहा कि कुछ सोशल मीडिया अकाउंट ऐसे थे जो दं’गों से पहले शुरू किए गए और हिं’सा के बाद बंद कर दिए गए। इनसे दं’गा, नफ’रत और घृ’णा फैलाने का काम किया गया। उन्होंने कहा, “दिल्ली में हुए दं’गों की जाँच पड़ताल में सोशल मीडिया में 60 ऐसे अकाउंट मिले हैं जो 22 फरवरी को शुरू हुए और 26 फरवरी को बंद हो गए। अगर ये लोग सोचते हैं कि अकाउंट बंद करके वो बच जाएँगे तो मैंबता दूँ कि वो जहाँ पर भी हैं पुलिस उनको ढूँढ निकालेगी।”

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here