ईरान और अमेरिका के बीच त’नाव बढ़ता ही जा रहा है। पहले अमेरिका ने ईरान पर ह’मला कर आर्मी चीफ का’सिम सुलेमानी को मा’र गि’राया। जिसके जवाब में ईरान ने भी अमेरिका के एयर बेस पर 22 मि’साइल्स से ह’मला कर 80 अमरीकी ज’वानों को मा’र गि’राया। ईरान के इस ह’मले से अमेरिका बौ’खला गया है। जिसके बाद शुक्रवार को डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान पर नए प्र’तिबंध लगाने का ऐलान किया। अमेरिका ने यह कदम इसी सप्ताह इराक में अपने सै’न्य ठिकानों पर ईरान के मि’साइल हम’लों के जवाब में उ’ठाया है।

मिली जानकारी के अनुसार, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और वित्त मंत्री स्टीवन न्यूचिन ने कहा कि नये प्र’तिबंधों से मध्यपूर्व में ‘अ’स्थिरता’ फैलाने के साथ ही मंगलवार के हुए मि’साइल ह’मलों में सं’लिप्त अधिकारियों को नु’कसान होगा। और ईरान को इस ह’मले की कीमत चु’कानी पड़ेगी।

दरअसल, हाल ही में इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिका ने ड्रो’न से ह’मला करके ईरान के शीर्ष सैन्य कमांडर का’सिम सुलेमानी को मा’र गि’राया था। जिसके बाद ईरान ने इराक में अमेरिकी सै’न्य ठि’कानों को नि’शाना बनाकर मि’साइल हमले किये थे।

दोनों देशों के बीच के त’नाव का अ’सर पूरी दुनिया में दिख रहा है। शेयर मार्किट तथा क्रूड आयल की कीमते में उथल पुथल मची हुई है। न्यूचिन ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ईरानी वस्त्र, निर्माण, विनिर्माण और खनन क्षेत्रों से जुड़े लोगों पर प्र’तिबंध लगाने का शासकीय आदेश जा’री करेंगे। वे इस्पा’त और लौह क्षेत्रों के खिलाफ भी अलग-अलग प्र’तिबंध ल’गाएंगे। वित्त मंत्री ने कहा, इसका नतीजा यह होगा कि हम ईरानी शा’सन को मिलने वाली करोड़ों डॉलर की सहायता पर रो’क लगा देंगे। ईरान ने अमेरिका के खि’लाफ मो’र्चा खो’ल दिया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here