डेस्क: पुरे देशभर में को’रोना का क’हर जारी है . इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहाँ एक डॉक्टर की गलती के कारण 24 लोग को’रोना से सं’क्रमित हो गए . यह मामला दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टिट्यूट (Delhi State Cancer Institute) का है. अस्पताल के एक डॉक्टर की ला’परवाही के चलते कई मरी’जों और नर्सिंग स्टाफ की जान पर बन आई है. हॉस्पिटल में 3 कैंसर के मरीजों के साथ-साथ 3 डॉक्टर, 17 नर्सिंग स्टाफ और 1 सफाई कर्मी करो’ना पॉजिटिव पाए गए हैं. साफ शब्दों में कहें तो एक डॉक्टर ने कुल 24 लोगों को कोरो’ना का मरी’ज बना दिया.

बता दे कि दिल्ली के भी’तर कोरो’ना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, और यह आंकड़ा 700 पार कर चुका है लेकिन इस कैं’सर अस्पताल की इस घटना ने सबको है’रान कर दिया है. आइए आपको समझाते हैं कैसे एक-एक कर दिल्ली के स्टेट कैं’सर इंस्टीट्यूट में कोरो’ना 24 लोगों तक पहुंचा .

  • दिलशाद गार्डन स्थित दिल्ली स्टेट कैं’सर इंस्टीट्यूट में करीब 60 कैं’सर के मरी’ज थे.
  • बुधवार 1 अप्रैल को इस कैं’सर हॉस्पिटल के एक डॉक्टर को कोरो’ना पॉ’जिटिव पाया गया.
  • इसके बाद डॉक्टर के संपर्क में आए सभी मरीजों और नर्सिंग स्टाफ को क्वॉ’रेंटीन किया गया और सं’दिग्धों के सैंपल लेकर कोरो’ना की जांच के लिए भेज दिए गए.
  • 8 अप्रैल को रिपोर्ट आई तो पता चला कि 2 डॉक्टर और 17 नर्सिंग स्टाफ के साथ-साथ 1 सफाईकर्मी कोरो’ना पॉजिटि’व हैं.
  • 9 अप्रैल को पता चला कि इस अस्पताल के मरी’जों में भी को’रोना फैल गया है. रिपोर्ट में इस अस्पताल के 3 कैंसर के म’रीज भी को’रोना संक्रमि’त पाए गए हैं.

मिली जानकारी के अनुसार, इस अस्पताल में कोरो’ना का इलाज नहीं हो रहा था, इसलिए जांच की जा रही है कि आखिर इस अस्पताल में को’रोना वा’यरस कैसे पहुंचा. बताया जा रहा है कि जिस डॉक्टर को सबसे पहले को’रोना हुआ, उनके भाई विदेश यात्रा करके लौटे थे और उनसे ही डॉक्टर को को’रोना इं’फेक्शन हुआ और अब को’रोना वा’यरस एक-एक कर अस्पताल के कुल 24 लोगों तक पहुंच चुका है जिसमें तीन कैं’सर के म’रीज भी शामिल हैं.

24 नए को’रोना मरी’ज मिलने से हाला’त और बि’गड़ गए है क्योंकि कैं’सर पे’शंट का इम्यून सिस्टम पहले से ही क’मजोर होता है ऐसे में को’रोना इं’फेक्शन होने के बाद नतीजे बेह’द घा’तक साबित हो सकते हैं. यही नहीं इस अस्पताल में एक के बाद एक कई ला’परवाही देखने को मिल रही हैं. 24 लोग कोरोना के मरीज बन गए लेकिन इसके बाद भी दिल्ली सरकार आंखें मूंद कर सो रही है.

अस्पताल में मेडिकल सेवाएं बंद है लेकिन जो स्टाफ अभी यहां पर काम कर रहा है उनके मन में को’रोना को लेकर डर बना हुआ है. अस्पताल में मौजूद स्टाफ नौकरी जाने के ड’र से कैमरे पर तो नहीं आ पाए लेकिन कैमरे के पीछे से ही बता रहे हैं कि उनको हाथ धोने के लिए साबुन और सैनिटाइजर जैसी मूलभूत चीजें भी मुहैया नहीं कराई जा रहीं.

इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Delhi Health Minister Satyendar Jain) का कहना है कि फिलहाल इस कैं’सर हॉस्पिटल को पूरी तरह से खाली कराया गया है. हॉस्पिटल को सैनि’टाइज किया जाएगा और हॉस्पिटल में जितने भी कैं’सर के म’रीज थे उन्हें धर्मशिला कैंसर हॉस्पिटल (Dharamshila Ca’ncer Hospital) और राजीव गांधी कैंसर हॉस्पिटल (Rajiv Gandhi Cancer Hospital) में शिफ्ट कर दिया गया है. इस घटना के सामने आने के बाद सरकार और अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मी की बड़ी लापर’वाही सामने आ रही है .

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here