spot_img
Tuesday, December 6, 2022
spot_img
Homegulfआज 1 जुलाई की अरब देशों की 10 बड़ी खबरें जानिए विस्तार...

आज 1 जुलाई की अरब देशों की 10 बड़ी खबरें जानिए विस्तार से !

-

1. सऊदी की एयरलाइन Flydeal में मचा हड़कंप, रियाद में हुई इमरजेंसी लैंडिंग !

सऊदी अरब की flydeal उड़ान में टेक्नीकल दिक्कत से उसकी इमरजेंसी लैंडिंग रियाद में करानी पड़ी. दरअसल एडेल एयर की उड़ान F3123 रियाद से जेद्दा के रास्ते में थी। कुछ तकनीकी खराबी के चलते उन्हें वापस लौटकर रियाद में इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी.

flydeal एयर के मीडिया सेंटर ने कहा कि उसकी टीमें अन्य उड़ानों से जेद्दा जाने वाली F-3123 फ्लाइट के यात्रियों के लिए नया शेड्यूल तैयार किया गया और बाद में यात्रियों को अलग-अलग फ्लाइट में बिठाया गया. बाद में तुरंत टीम बैठी और विमान में तकनीकी खराबी के कारणों का पता लगाने की कोशिश चालु की गयी.

विमान की खराबी का पता लगाने के लिए जुटी टीम

अगर टीम विशेषज्ञ किसी निष्कर्ष पर पहुंचते हैं, तो एक व्याख्यात्मक बयान जारी किया जाएगा और जनता के सामने पेश किया जाएगा कि आखिर कौन सी टेक्नीकल प्रॉब्लम थी. यात्रियों की सुरक्षा Flydeal एयर की पहली प्राथमिकता है। अधिकारियों ने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की और आगे भी करते रहेंगे ताकि यात्रियों को कोई परेशानी न हो और किसी भी इमरजेंसी हालातों से बेहतर तरीके से निपटा जा सके।

2. हज के 10 दिन पहले सऊदी के इन ख़ास लोगों के लिए हज रजिस्ट्रेशन की निकली Vacancies !

सऊदी अरब के हज और उमराह मंत्रालय ने कहा है कि देश में रहने वाले सऊदी और विदेशियों के लिए घरेलू शिक्षकों के लिए Vacancies निकले गयी है जिसके तहत वे हज रजिस्ट्रेशन करके हज कर सकते हैं. शेष सीटों के लिए अगर सउदी और immigration को पंजीकरण कराना है तो वे आसानी से करा सकते हैं. आंतरिक शिक्षकों को निर्धारित नियम व शर्तों के अनुसार अधिक अभ्यर्थियों को जोड़ने का मौका दिया जा रहा है.

हज और उमराह मंत्रालय ने आंतरिक तीर्थयात्रियों को पंजीकरण की सुविधा ऐसे समय में दी है जब कुछ लोगों ने पंजीकरण के बाद हज करना छोड़ दिया है। बताया जा रहा है कि हज छोड़ने वालों का अनुपात 24 फीसदी तक पहुंच गया है और फिलहाल 24 फीसदी सीटें खाली हैं तो उनका रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है. इस साल देश के भीतर से 15 लाख तीर्थयात्रियों को हज करने का मौका दिया जा रहा है.

haj form
haj form

3. बकरीद में कुर्बानी करने से पहले जान लीजिये नियम ! सऊदी सरकार ने किया नया सिस्टम लॉन्च

सऊदी अरब के उप पर्यावरण, जल और कृषि मंत्री मंसूर अल-मुशिति ने बूचड़खानों में कुर्बानी के लिए एक ऑनलाइन बुकिंग प्रणाली का उद्घाटन किया। पर्यावरण, जल और कृषि मंत्रालय का कहना है कि सऊदी अरब के सभी प्रमुख शहरों में ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था की जाएगी, लेकिन पहले चरण में यह सुविधा सिर्फ मक्का और रियाद के आम लोगों को ही मिलेगी.

दरअसल इस पहल का मकसद आम नागरिकों और व्यापारियों को सुविधा देना है। मंत्रालय ने बताया कि ऑनलाइन बुकिंग से दिन और समय दोनों तय होंगे। साथ ही गाय, भेड़ और बकरियों सहित विभिन्न प्रकार के जानवरों का चयन भी ऑनलाइन ही किया जाएगा। ऑनलाइन प्रणाली वांछित बूचड़खाने का चयन करने का भी मौका देगा। मंत्रालय ने कहा कि कुर्बानी के लिए ऑनलाइन प्री-बुकिंग की सुविधा मंत्रालय के ई-सर्विस गेट ‘नीमा’ के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही है.

4. जानिए किन्हें मिलेगी 21 और किन्हें मिलेगी 30 दिनों की छुट्टियां ! ये है पूरी जानकारी

सऊदी जनशक्ति और समाज कल्याण मंत्रालय ने सऊदी श्रम कानून के अनुसार वार्षिक छुट्टी को लेकर एक नयी प्रक्रिया जारी की है, जिसमे कहा गया कि वार्षिक अवकाश कर्मचारी के वास्तविक वेतन पर आधारित होगा। इसमें सभी भत्ते शामिल होंगे। मंत्रालय ने कहा कि श्रम कानून की धारा 2 के तहत श्रम की शुरुआत करके यह नया खुलासा किया गया है.

कुछ कर्मचारियों ने पूछा था “क्या वार्षिक अवकाश का भुगतान केवल मूल वेतन के आधार पर किया जाएगा या क्या मैं गृह भत्ता और परिवहन भत्ता सहित पूर्ण वेतन का हकदार रहूंगा?” जवाब में कहा गया कि “यदि नियोक्ता कंपनी या संगठन की आवश्यकता के अनुसार कर्मचारी को वार्षिक छुट्टी नहीं देता है, तो ऐसे मामले में उसे दोहरे वेतन के रूप में छुट्टी मुआवजा देना होगा.

गौरतलब है कि कानून के मुताबिक सऊदी अरब में काम करने वाले विदेशी कामगारों को सालाना छुट्टी के लिए दो कैटेगरी में बांटा गया है. जिसके मुताबिक, जिन कर्मचारियों ने कंपनी या प्रायोजक के साथ पांच साल से काम नहीं किया है, उन्हें एक साल बाद कम से कम 21 दिन की छुट्टी दी गई है. दूसरी श्रेणी में वे कर्मचारी हैं जो पांच साल से अधिक समय से कार्यरत हैं। उन्हें 30 दिनों का वार्षिक अवकाश मिलता है.

yearly holiday
yearly holiday

5. सऊदी महिलाओं की दुकानों पर विदेशी कर्मचारियों का दबदबा ! जानिए क्या है सरकार का नया फैसला

सऊदी जनशक्ति और समाज कल्याण मंत्रालय ने कहा है कि “अबाया यानी कि नकाब और महिलाओं के कपड़े बेचने वाली दुकानों के 100% सऊदीकरण के निर्णय को लागू करने के लिए जांच चल रही है।” ताइफ़, मक्का, जेद्दा और सऊदी अरब के कई अन्य क्षेत्रों में विदेशी कर्मचारी महिलाओं के कपड़े बेचने वाले दुकानों में काम कर रहे है.

सौ फीसदी सऊदीकरण के फैसले के बावजूद भी ये विदेशी इन दुकानों में भी नजर आ रहे हैं. जनशक्ति मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि “सऊदी के फैसले का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। अबाया और महिलाओं के कपड़ों के सौ फीसदी सऊदीकरण के फैसले को पूरी ताकत से लागू किया जा रहा है। जहां कहीं उल्लंघन हो रहा है, नोटिस दिया जा रहा है। मंत्रालय के निरीक्षक लगातार दौरा कर रहे हैं और जांच में जुटे हैं.

स्थानीय लोगों ने यह भी सवाल किया है कि क्या 100 प्रतिशत सऊदीकरण का निर्णय विफल हो गया क्योंकि सऊदी महिला श्रमिक कुछ समय के लिए काम करने के बाद अपनी नौकरी छोड़ रही हैं और उनकी जगह विदेशी महिलाओं को लाया जा रहा है. जनशक्ति मंत्रालय ने स्वीकार किया कि “खुदरा व्यापार में, यह साफ़ पता चल रहा है कि महिला श्रमिक एक स्थान से दूसरे स्थान पर जा रही हैं.

6. सऊदी के जेद्दाह शहर में 10 लाख से अधिक बकरियों की हुई डिलीवरी !

सऊदी अरब के पर्यावरण मंत्रालय ने कहा है कि एक लाख से अधिक हलाल होने वाले जानवरों को इस्लामिक बंदरगाह जेद्दा में धू अल-कायदा के 1 से धू अल-कायदा के 30 वें स्थान पर पहुंचाया गया है. आने वाले दिनों में और अधिक बकरीद के हलाल जानवरों की डिलीवरी की जाएगी।

पर्यावरण मंत्रालय ने कहा है कि अतिरिक्त परियोजना के तहत 410,000 बकरियों का झुण्ड भी जेद्दा पहुंच गई है. मंत्रालय ने कहा, “सभी जानवर स्वास्थ्य के उच्चतम मानकों को पूरा करते हैं. हर आने वाली खेप को जारी करने से पहले स्वास्थ्य के लिए जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सभी जानवर कुछ प्रकार की बीमारी से मुक्त हैं.

bakrid new system
bakrid new system

7. मुसलमानों के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला ! अब BJP प्रवक्ता नूपुर शर्मा मांगेंगी पूरे देश से माफ़ी

सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी से निलंबित हो चुकी नूपुर शर्मा पर एक बड़ा फरमान जारी कर दिया है, जिसमे कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि नूपुर शर्मा को टीवी पर आकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. क्यूंकि उनके बयान से आज पूरे भारत देश में आग लग चुकी है.

साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि टीवी चैनल और नुपुर शर्मा को ऐसे मामले से जुड़े किसी भी एजेंडे को बढ़ावा नहीं देना चाहिए, जो न्यायालय में विचाराधीन है. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा कि नूपुर शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद उसने क्या किया. इस मामले में व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया है लेकिन कई एफआईआर के बावजूद नुपूर शर्मा खिलाफ अभी तक दिल्ली पुलिस ने कोई कार्रवाई क्यों नहीं की है.

गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिपण्णी की थी. जिससे पूरे मुसलमानो का खून खौल गया. यहाँ तक कि मुस्लिम देश, अरब देश भारत को बॉयकॉट तक करना शुरू कर दिया था. जिससे अरब में रहने वाले भारतीय प्रवासियों के नौकरी रोज़गार भी खतरा मंडराने लगा है. भारत में अभी भी इस टिपण्णी से बवाल छिड़ा हुआ है.

8. माशा अल्लाह ! इस साल हज के खुतबे को 14 भाषाओं में किया जाएगा प्रसारित

हज अब बस कुछ दिनों में शुरू होने ही वाला है. ऐसे में हज मंत्रालय ने अपने यहाँ आने वाले ज़ायरीनों को हर तरह की मुमकिन सुविधा मुहैया कराई है. ताकि हज यात्रियों को कोई परेशानी न हो. वहीँ अब एक और सुविधा दे दी गयी है जहाँ ज़ायरीनों के लिए 14 भाषाओं में खुतबे देने का बंदोबस्त किया गया है.

दो पवित्र धर्मस्थलों के प्रशासन के प्रमुख शेख डॉ अब्दुल रहमान अल-सुदैस ने कहा है कि अराफात स्क्वायर से हज के ख़ुत्बे का 14 भाषाओं में सीधा प्रसारण किया जाएगा, जो 150 मिलियन लोगों तक पहुंचेगा। हज में होने वाले ये ख़ुत्बे नवीनतम तकनीक और उपकरणों के साथ अंग्रेजी, फ्रेंच, उर्दू, फारसी, रूसी, चीनी, बंगाली, तुर्की, मलावी, हिंदी, स्पेनिश, तमिल और स्वाहिली में दिया जाएगा.

haj khutba
haj khutba

9. अरब के हर एक सेक्टर के कामगारों को छुट्टी ! सीधे 11 जुलाई को आएंगे ऑफिस

संयुक्त अरब अमीरात में बीते दिन बुधवार को ही ईद अल अज़हा का चाँद दिख गया है. यानी कि अब कन्फर्म हो चूका है कि लगभग सभी अरब देशों में बकरीद 9 जुलाई को ही मनायी जायेगी. जैसा कि बकरीद की तारीख का ऐलान हो गया ठीक वैसे ही कामगारों की छुट्टियों का भी ऐलान हो गया है.

कामगारों को जल्द ही Eid Al Adha के मौके पर चार दिन की छुट्टी मिलेगी। संयुक्त अरब अमीरात में Eid Al Adha की आधिकारिक छुट्टी की घोषणा कर दी गई है। कहा गया है कि federal government employees, के लिए चार दिन वीकेंड की घोषणा की गई है। Federal Authority for Government Human Resources (FAHR) ने कहा है कि Eid Al Adha की छुट्टी शुक्रवार, 8 जुलाई से लेकर सोमवार 11 जुलाई तक रहेगी।

10. सऊदी में इस चीज़ का License लेने के लिए 7 बड़ी शर्तें हुई लागू ! पहले जान लें तब भरे फॉर्म

सऊदी अरब के ट्रैफिक पुलिस विभाग ने देश में ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने के लिए सात बुनियादी शर्तें तय की गयी हैं, जिसे मानना हर एक चालक के लिए अनिवार्य है. दरअसल शर्तों के तहत, लाइसेंस लेने के लिए आवेदक की आयु 18 वर्ष होनी चाहिए और उसपर ड्रग्स रखने या नशीले पदार्थों जैसे केस फाइल न हुए हो.

इसके अलावा आवेदक को शारीरिक रूप से फिट होना चाहिए। इसके लिए ड्राइविंग टेस्ट पास करना होता है। लाइसेंस शुल्क का भुगतान किया जाना चाहिए, यदि पुराने चालान हैं, तो उन्हें भुगतान किया जाना चाहिए और कानूनी निवास होना चाहिए। ये सभी बुनियादी शर्तें हैं जिन्हें प्रत्येक मामले में पूरा किया जाना चाहिए। ड्राइविंग लाइसेंस लेने के दो तरीके हैं। अपने देश के ड्राइविंग लाइसेंस धारकों को प्रारंभिक लाइसेंस जारी किए जाते हैं, जबकि जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है उन्हें यातायात पुलिस द्वारा ट्रेनिंग दी जाती है तब लाइसेंस दी जाती है.

s dr
s dr

विदेशी ड्राइविंग लाइसेंस वाले अप्रवासी

अप्रवासी जिनके पास अपने देश का ड्राइविंग लाइसेंस है, उन्हें इसका अरबी में अनुवाद करना चाहिए और अपने देश के दूतावास द्वारा सत्यापित करना चाहिए। फिर ट्रैफिक पुलिस के स्वीकृत ड्राइविंग स्कूल डिल्ला की वेबसाइट पर रजिस्टर करें और वहां से ड्राइविंग टेस्ट लें. टेस्ट पास करने वालों को ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जाता है. जो लोग टेस्ट पास नहीं करते हैं, उन्हें कम से कम 30 घंटे का टेस्ट दिया जाता है और प्रति दिन तीन घंटे सिखाया जाता है.

ड्राइविंग लाइसेंस के बिना विदेशी जिन व्यक्तियों के पास विदेशी ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है, उन्हें ड्राइविंग स्कूल में पंजीकरण कराना होगा और 90 घंटे का टेस्ट करना होगा। यह 30 दिनों को कवर करता है और रोजाना तीन घंटे तक चलता है. ड्राइविंग क्लासेस पूरी करने के बाद आपको एक परीक्षा पास करनी होती है जिसमें आपको ड्राइविंग और ट्रैफिक साइंस की टेस्ट पास करनी होती है.

driving
driving

मेडिकल टेस्ट : ड्राइविंग टेस्ट पूरा करने के बाद मेडिकल टेस्ट में किसी स्वीकृत अस्पताल या मेडिकल सेंटर से सर्टिफिकेट लेना शामिल होता है, जिसमें ब्लड ग्रुप, आंखों की जांच और शारीरिक की जांच की जाती है।

अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस : अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस लेने के लिए, निर्धारित आवेदन पत्र भरा जाता है और फोटो और पासपोर्ट की दो प्रतियां दी जाती हैं और शुल्क का भुगतान करने के बाद, संस्थान से संपर्क किया जाता है जहां से अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जाता है. ऐसा करने के लिए अधिकृत किसी भी ट्रैवल और टूर एजेंसी द्वारा एक अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जा सकता है।

17 साल के बच्चों के लिए ड्राइविंग परमिट : कानून के अनुसार, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आयु सीमा 18 वर्ष है. हालांकि, एक साल का ड्राइविंग परमिट, जिसे ‘विनिर्देश’ भी कहा जाता है, 17 साल के बच्चों के लिए जारी किया जा सकता है। “विनिर्देश” जारी करने के लिए आयु 17 वर्ष ही होनी चाहिए उससे कम बिलकुल भी नहीं।

महिलाओं के लिए ड्राइविंग लाइसेंस जारी करना : सऊदी अरब में महिलाओं को भी गाड़ी चलाने की इजाजत है. इस संबंध में यातायात विभाग का कहना है कि जो नियम पुरुषों पर लागू होते हैं वही नियम महिलाओं पर भी लागू होते हैं.

saudi driving license
saudi driving license

 

 

 

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,600FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
spot_img

Latest posts