spot_img
Saturday, November 26, 2022
spot_img
Homeगयागया में दुर्गा पूजा के दौरान टीचर और उसकी पत्नी छात्र को...

गया में दुर्गा पूजा के दौरान टीचर और उसकी पत्नी छात्र को कमरे में ले गए, छाती पर चढ़कर पीटा

-

बिहार के गया के प्राइवेट स्कूल में तीसरी क्लास में पढ़ने वाले 6 साल के विवेक की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ। उसे पूजा की थाली से प्रसाद उठाकर खाने के लिए पीटा गया था।

दरअसल, मंगलवार को स्कूल में दुर्गा पूजा हो रही थी। विवेक ने पूजा की थाली से एक सेब उठाकर खा लिया था। इसके बाद टीचर और उसकी पत्नी उसे एक कमरे में ले गए और पीटने लगे। फर्श पर पटककर छाती पर चढ़कर मारा और स्कूल के बाहर कर दिया। ये बात विवेक ने मौत से पहले अपने दादा को बताई थी।

दादा ने कहा- ऑटो ड्राइवर लेकर आया था बच्चे को

विवेक के दादा रामबालक प्रसाद का कहना है कि बच्चे को बेहोशी की हालत में गांव के ही एक ऑटो ड्राइवर और एक आदमी घर लेकर आए थे। वह सड़क पर लेटा हुआ था। उसकी हालत नाजुक थी। उसे तत्काल प्रभाव से हॉस्पिटल ले गए। हॉस्पिटल ले जाने के दौरान विवेक ने लिटिल लीडर्स पब्लिक स्कूल के संचालक टीचर विकास सिंह और उसकी पत्नी के पीटने के बारे में बताया था।

दादा ने कहा- मौत से पहले विवेक ने बताया था कि उसने पूजा की थाली में रखा एक सेब खा लिया था। इसी बात के लिए उसे उसके टीचर ने बेरहमी से पीटा। विकास सिंह ने दोनों हाथ से एक ही साथ कनपटी के नीचे इतना जोर से मारा कि वह वहीं पर बेहोशी की हालत में पहुंच गया। इसके बाद तो विकास सिंह और उसकी पत्नी सीने पर लात रख कर चढ़ गया।

बच्चों के साथ मारपीट अक्सर की जाती थी

राम बालक सिंह के घर आए हुए उसी गांव के धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि स्कूल में बच्चों के साथ मारपीट अक्सर की जाती थी। टीचर ने उसके बेटे को एक दिन ऐसा मारा कि उसका हाथ टूट गया। उसके हाथ प्लास्टर चढ़ा हुआ है। वहीं एक महिला ने भी बताया कि उसके घर की बेटी को भी स्कूल वालों ने बुरी तरह से पीटा था। वह कई दिनों तक बीमार रही थी।

पीड़ित वजीरगंज- फतेहपुर रोड पर बड़ही बिगहा गांव के पास लिटिल लीडर्स पब्लिक स्कूल में पढ़ता था। उसका घर स्कूल से 3 किलोमीटर दूर था, इसलिए परिवार ने स्कूल के ही हॉस्टल में उसे रखा था। बच्चे की मौत के बाद परिवार ने स्कूल के बाहर हंगामा किया। इसके बाद पुलिस ने बुधवार शाम स्कूल संचालक विकास सिंह को गिरफ्तार कर लिया। 302 के तहत हत्या का केस दर्ज किया गया है। बच्चे की मौत के बाद स्कूल को भी बंद करवा दिया गया है। हॉस्टल से भी सभी बच्चों को घर भेज दिया है।

पुलिस के मुताबिक बुधवार को बच्चा स्कूल के गेट के बाहर गांव के ही एक व्यक्ति को बेसुध हालत में पड़ा मिला। उसका पूरा चेहरा सूजा हुआ था। उसकी नाक से खून बह रहा था। यूनिफॉर्म भी फटी हुई थी। अस्पताल ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई।

विकास सिंह को पुलिस ने किया गिरफ्तार

राम बालक सिंह ने बताया कि विकास सिंह को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने बताया कि आवासीय लिटिल लीडर्स स्कूल चार वर्ष पहले ही खुला था। यह रेसिडेंसियल स्कूल है। हॉस्टल में विभिन्न गांवों के 15-20 बच्चे पढ़ते हैं। हॉस्टल का फी हर महीने वह ढाई हजार रुपए दिया करते थे। विवेक की दादी ने बताया कि अपने पोते के लिए नमकीन, मठरी, किशमिश लेकर उससे मिलने के लिए बुधवार को स्कूल जाने वाली थी।

अस्पताल पहुंचा तो बच्चे का चेहरा पूरा सूजा हुआ था

वजीरगंज CHC के डॉ. रविशंकर कुमार ने बताया कि विवेक हमारे पास बेहोशी की हालत में आया था। शरीर का ऊपरी भाग पूरी तरह से सूजा हुआ था, उनके परिजन ने बाहर भी इलाज करवाने की बात बताई थी। प्राथमिक उपचार के बाद उसे तुरंत एएनएमसीएच रेफर कर दिया था।

थानाध्यक्ष रामएकबाल प्रसाद यादव ने बताया कि पीड़ित परिवार ने बच्चे की बेरहमी से पीट-पीट कर हत्या का आरोप लगाया है। गया के प्राइवेट स्कूल में पिटाई से छात्र की मौत का ये पहला मामला नहीं है। इसके पहले जीडी गोयनका स्कूल में भी 8वीं के छात्र कृष्ण प्रकाश की मौत हुई थी। जांच अब तक चल रही है।

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,590FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
spot_img

Latest posts