एसपी साहब ने ट्रक ड्राइवर बन कर इन पुलिसवालों को चौंका दिया जो ट्रैफिक पर खड़े होकर ट्रक वालों से पैसे मांग रही थी। पुलिस वालों को जब इस बात की भनक लगी कि ड्राइविंग सीट पर बैठा हुआ आदमी जो उन्हें पैसे दे रहा है वह कोई और नहीं बल्कि जिले का सबसे बड़ा पुलिस अधिकारी है तो वह चौंक गए।

बिहार के कैमूर में ओवरलोडेड ट्रक पार कराने के मामले में एसपी दिलनवाज ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कुदरा थाना के सब इंस्पेक्टर सुरेन्द्र कुमार सिंह, सहायक अवर निरीक्षक हीरा लाल और 3 सिपाही, 10 होमगार्ड के जवान, सैप के जवान, सहित 17 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है.

Loading...

बुधवार की रात ट्रक चालक बने कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद को ड्यूटी पर रहे पुलिस वाले पहचान नहीं पाए और, उनकी भी चेक पोस्ट पर तलाशी लेने लगे. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसपी ने खुद ट्रक पर सवार होकर करीब 10 किलोमीटर ट्रक चलाया. इस दौरान इंट्री माफिया से लेकर सभी पुलिसकर्मियों को यही लगा कि कोई ट्रक चालक है.

इस बीच जहां भी पुलिस वाले ट्रक पार कराने के नाम पर पैसे मांगते थे उनके द्वारा दिया जाता रहा. करीब 4 घंटे के सर्च ऑपरेशन से पुलिसकर्मियों और इंट्री माफि’याओं में हड़’कंप मच गया. कार्रवाई के दौरान एसपी ने 36 हजार रुपए भी ज’ब्त किए गए हैं.

एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया है कि कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि इंट्री माफि’याओं द्वारा ओ’वरलोड ट्रकों को जीटी रोड से पार कराया जा रहा है. जबकि ओव’रलोड ट्रकों को रो’कने और माफि’या की गि’रफ्तारी के लिए अस्थाई चेक पोस्ट बनाया गया था. इसके बावजूद भी ध’ड़ल्ले से ओ’वरलोड ट्र’क पार हो रहे थे.

जिसको लेकर पिछले कुछ दिनों से 24 घंटे दंडा’धिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई थी. इसकी जांच के लिए सादे लिबास में व सिविल गाड़ी में उनकी टीम रात में इसका सत्यापन करने पहुंची. जहां पहाड़गंज चेक पोस्ट पर प्रतिनियुक्त सिपाही व होमगार्ड जवानों को अनियमितता करते हुए पाने पर उन्हें निलंबित कर दिया गया है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here