गया के शेरघाटी से एक बड़ी खबर सामने आ रही है, वहीं इस न्यूज़ को FIRSTBIHAR.com ने कवर किया है।

GAYA: कोरोना का कहर मजदूरों पर चारों तरफ से पड़ रहा है. कोलकाता में मजदूरी करने वाले मजदूर जब लॉकडाउन में फंस गए तो किसी तरह से वह 500 किमी पैदल चल अपने गांव पहुंचे. लेकिन यहां पर भी आफत उनका पीछा नहीं छोड़ी. गांव के बाहर ही ग्रामीणों ने रोक दिया और गांव में घुसने पर पाबंदी लगा दी. यह घटना गया के शेरघाटी थाना क्षेत्र की है.

डॉक्टरों से जांच के बाद ही अंदर जाने की होगी अनुमति

ग्रामीणों ने गांव पहुंचे युवकों को कहा कि पहले डॉक्टर से जांच कराए. जांच में अगर सबकुछ ठीक रहा तभी ही गांव में आने दिया जाएगा. गांव के लोगों ने रास्ते को बांस और लकड़ी से घेर लिया है. बीटी बिगहा गांव पहुंचे युवक परेशान हैं. 20 मजदूर कोलकाता में मजदूरी करने के लिए गए थे. बताया जा रहा है कि इसकी सूचना लोगों ने स्वास्थ्य विभाग को भी दे दी है.

कई और गांवों में भी यही है स्थिति

कोरोना के डर से गया के बिघी और मनफर गांव में भी ग्रामीणों ने गांव में आने वाले किसी भी बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दिया है. सड़क को घेरने के अलावे सड़क पर पोस्टर भी लगाया गया है. बता दें कि कोरोना के कारण गांव के लोग भी डरे हुए हैं. कोरोना संक्रमण के कारण दूसरे जगहों पर रहने वाले लोगों को गांव में नहीं जाने दे रहे हैं.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here