डेस्क: बिहार में को’रोना का क’हर जारी है. आज मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी ने lockdown को 3 मई तक बढाने का ऐलान कर दिया है. इसी बीच एक बड़ी खबर प्रकाश में आया है. जहाँ संपत्ति के लालच में भाई की प्र’ता’ड़ना की शि’कार बहन न्याय की गुहार लगाने डीएम के पास पहुंच गई। देश भर में कोरोना के खौ’फ के चलते लगाए गए लॉकडाउन के बीच 40 किलोमीटर पैदल चलकर प्रताड़ना से आ’हत महिला बबीता अपने दो बच्चों और पति के साथ जमुई पहुंची थी.

मिली जानकारी के अनुसार, कचहरी चौक पर अचानक एसडीएम लखींद्र पासवान की नजर उनलोगों पर पड़ गई। उन्होंने महिला से उनका हाल पूछा। पता चला कि उसका भाई मुन्ना गोस्वामी संपत्ति के लिए उसे ड’रा ध’म’का कर भगा दिया है। बबीता ने बताया कि उसका मायका अलीगंज है। उसने अपने चाचा की काफी सेवा की थी जिसके कारण चाचा ने पूरी संपत्ति उसे लिख दी। 

चाचा को कोई बाल बच्चा नहीं था। अब उसका सहोदर भाई मुन्ना गोस्वामी जबरन संपत्ति लिखने का दबाव बनाता है। लगातार जान से मा’रने की ध’मकी देता है। इसी बात की शिका’यत लेकर बबीता जमुई पहुंची थी। एसडीएम ने स्थानीय थाना से बात कर पूरे मामले की जानकारी ली।

जानकारी लेने के बाद उन्होंने चंद्रदीप पुलिस को आवश्यक का’र्रवाई का निर्देश दिया। खाना खिलाने के बाद महिला और उसके परिवार को अलीगंज पहुंचाने की जिम्मेदारी नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी जनार्दन वर्मा को दी गई। अधिकारियों से मुलाकात होने के बाद बबीता में न्याय की उम्मीद जगी। जिसके बाद वो अपने घर लौट आयी .

source-हिंदुस्तान

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here