बिहार के गया जिले के रहने वाले अजीत कुमार 18 साल की लंबी कोशिश के बाद केबीसी के हॉट सीट तक पहुंचे और 15 सवालों का सही जवाब देकर एक करोड़ रुपए जीत लिए। 7 करोड़ के प्रश्न का वे जवाब नहीं दे सके और गेम क्विट कर दिया। अजीत पेशे से जेल सुपरिटेंडेंट हैं और हाजीपुर में बिहार प्रशासनिक एवं सुधार गृह में ट्रेनिंग ले रहे हैं। 14 सालों तक रेलवे में भी सर्विस की। अजीत के दो बच्चे हैं और पत्नी मनीता कुमारी हाउस वाइफ हैं।

जब अमिताभ ने कहा आप एक करोड़ जीत गए …लगा जिंदगी का सपना पूरा हो गया
अजीत बताते हैं 2001 में जब केबीसी शुरू हुआ तभी से हॉट सीट तक पहुंचने की कोशिश कर रहा था। घरवाले भी खेलने के लिए प्रोत्साहित करते थे। चूंकि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था, इसलिए जो प्रश्न केबीसी में पूछे जाते थे लगभग उन सभी प्रश्नों का जवाब मालूम होता था। यही वजह है कि केबीसी में जाने की बहुत इच्छा थी और पूरा विश्वास था कि हॉट सीट तक पहुंचा तो अच्छी रकम जीतकर आऊंगा। 15वें प्रश्न का सही जवाब देने पर जब अमिताभ बच्चन ने कहा एक करोड़…लगा जिंदगी का सपना पूरा हो गया हो।

चाहते थे अफसर बनना
अजीत का सपना गजेटेड ऑफिसर बनने का था। धनबाद के पीकेआरएम कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद अजीत ने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी की और 2002 में स्टेशन मास्टर की नौकरी क्वालिफाई की। पहली पोस्टिंग गरवारूढ़ जंक्शन पर हुई। नौकरी के साथ ही सिविल सर्विस की तैयारी भी करते रहे। 2017 में रेलवे के विजिलेंस विंग द्वारा आयोजित डिपार्टमेंटल परीक्षा पास की और जेल सुपरिटेंडेंट के पद पर नियुक्ति हुई।

अमिताभ बच्चन के सामने बोला उनका डायलॉग
खेल के दौरान अजीत ने जेल में कैदियों की स्थिति बताई और कहा कि जैसा फिल्मों में दिखाया जाता है वैसे हालात नहीं होते। इस पर अमिताभ बच्चन ने कहा कि हमने तो कभी फिल्मों में ऐसा कुछ नहीं दिखाया। इस पर अजीत ने अमिताभ बच्चन की फिल्म कालिया का डायलॉग पढ़ा-मैं जिस जेल में रहता हूं वहां का जेलर या तो तबालदा करा देता है या लंबी छुट्टी पर चला जाता है।

बिहार की हैट्रिक

इसी सीजन में जहानाबाद के रहने वाले सनोज राज और मधुबनी के गौतम कुमार एक करोड़ रुपए जीत चुके हैं। केबीसी के अब तक इतिहास में ये पहली बार है जब बिहार के तीन लोग एक करोड़ रुपए जीते हों। इससे पहले मोतिहारी के सुशील कुमार ने केबीसी में 5 करोड़ रुपए जीते थे।