कृषि कानूनों पर किसानों का आंदोलन जोर पकड़ता जा रहा है. इसकी गुंज विदेशों में भी सुनाई देने लगा है. पॉप गायिका रिहाना, पूर्व एडल्ट सेलेब्रिटी मिया खलीफा, पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने अपनी प्रतिक्रिया दी. जिसके बाद बॉलीवुड कलाकार और क्रिकेटर्स ने अपनी प्रतिक्रिया दी. एक सुर में कहा कि ये भारत का आंतरिक मामला है जिस पर विदेशियों को नहीं बोलना चाहिए.

वहीं, किसानों के मुद्दे पर सलमान खान ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. सलमान खान ने सधे तरीके से अपना बयान दिया है. पत्रकारों के किसान आंदोलन को लेकर सवाल पूछने पर कहा, ‘सही बात है, वही होनी चाहिए. जो उनके लिए सबसे ज़्यादा सही है, वही होना चाहिए. हरेक के साथ सही चीज़ होनी चाहिए.’

बॉलीवुड कलाकारों के बयान पर आपत्ति

दूसरी तरफ कांग्रेस नेता और बॉलीवुड शॉटगन शत्रुघ्न सिन्हा का भी बयान सामने आया है. उन्होंने कुछ बॉलीवुड कलाकारों के किसानों को लेकर दिए गए बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि ये लोग राग दरबारी हैं. उन्होंने कहा, ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता तो है लेकिन भय, दबाव, जोर, घबराहट की वजह से लोग बयान देते हैं. अगर ये लोग पहले बोलते तो अच्छा होता. ये राग दरबारी या राग सरकारी लोग हैं. उन्हें ध्यान रखना चाहिए कि कल दूसरी सरकार भी आ सकती है.’

शॉटगन ने की विदेशी कलाकारों की तारीफ 

वहीं, शत्रुघ्न सिन्हा ने विदेशी कलाकारों की तारीफ करते हुए कहा , ‘अगर कोई सिर्फ ट्वीट कर समर्थन करता है तो इसमें विवाद क्यों है. रिहाना ने तो यही कहा है कि इस मुद्दे की चर्चा क्यों नहीं हो रही. 70 दिनों से किसान कड़ाके की ठंड में आंदोलन कर रहा है तो इसमें संप्रभुता की बात कहां से आती है.’

पीएम मोदी पर कसा तंज

बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने भी जाकर डोनाल्ड ट्रंप के लिए प्रचार किया था. आगे कहा, ‘पीएम मोदी ने खुद जाकर अबकी बार ट्रंप सरकार कार्यक्रम किया था. कोरोना के बीच डोनाल्ड ट्रंप को भारत बुलाया गया. नाजीवाद को लेकर पूरी दुनिया में अपनी राय रखी तो इसमें गलत क्या है. पीएम मोदी कहते हैं कि दुनिया एक ग्लोबल कम्युनिटी बन चुकी है तो इसमें गलत क्या है.’

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here