फिल्म‌ ‘वास्तव’, सिम्बा’ ‘जिस देस में गंगा रहता है’, ‘खाकी’ ‘सिंघम’ जैसी तमाम फिल्मों में दमदार अभिनय से दर्शकों का दिल जीतने वाले अभिनेता किशोर नांदलस्कर का आज दोपहर कोरोना के चलते मुम्बई में निधन हो गया. 81 साल के किशोर नांदलस्कर मराठी फिल्मों और सीरियल की दुनिया का एक जाना-माना चेहरा थे.

किशोर नांदलस्कर के‌ पोते अनीष ने मीडिया को बताया कि  “मेरे दादाजी को पिछले हफ्ते बुधवार को कोरोना होने के चलते ठाणे के कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया था, जहां पर आज तकरीबन 12.30 और 1 बजे के बीच उन्होंने आखिरी सांस ली.”

सांस लेने में थी तकलीफ

अनीष ने आगे बताया, “कोविड सेंटर में दाखिल कराने से पहले उन्हें सांस लेने और बात करने में काफी तकलीफ हो रही थी. उनका ऑक्सीजन लेवल भी काफी गिर गया था.”  किशोर नांदलस्कर ने मराठी सिनेमा और धारावाहिकों का एक जाना-माना चेहरा थे.  मगर पिछले ढाई दशकों में उन्होंने कई हिंदी फिल्मों में चरित्र भूमिकाएं भी निभाईं थीं और एक सपोर्टिंग एक्टर के तौर पर उन्होंने अपनी पहचान बनाई थी.

ये भी पढ़ेंः कोरोना से मौत होने के बाद आठ लोगों का एक ही चिता पर हुआ अंतिम संस्कार, वजह जान चौंक जायेंगे

किशोर नांदलस्कर ने 1989 में मराठी फिल्म ‘इना मीना डीका’ से बड़े पर्दे की दुनिया में कदम रखा था. उन्होंने मराठी फिल्मों ‘मिस यू मिस’, ‘भविष्याची ऐशी तैशी’, ‘गाव थोर पुढारी चोर’, ‘जरा जपुन करा’, ‘हैलो गंधे सर’, ‘मध्यममार्ग – द मिडिल क्लास’ जैसी अनेकों फिल्मों में काम किया था.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here