पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के आखिरी चुनावी सभा में  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह कहकर राजनीतिक हलकों में उथल-पुथल मचा दी है कि यह विधानसभा चुनाव उनका अंतिम चुनाव है.नीतीश के इस बयान के बाद सियासत तेज है. वहीं, अब प्रदेश जेडीयू अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने इन विवेचनाओं को खारिज कर दिया.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Loading...

वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा, ‘‘क्या कोई राजनीतिक या सामाजिक कार्यकर्ता कभी सेवानिवृत्त होता है? क्या नीतीश कुमार खुद विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं?’’ आगे कहा, ‘‘यदि पूरा बयान सुने या संदर्भ को समझे बिना विपक्ष अपनी गलतफहमी से खुश हो रहा है, तो इसमें हम कुछ नहीं कर सकते. जबकि तथ्य यह है कि तीसरे और अंतिम चरण के चुनाव के लिए प्रचार से कुछ समय पहले वह अपनी अंतिम चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे, जिसका वह जिक्र कर रहे थे.’’

ये भी पढ़ेंः नीतीश कुमार ने भरी सभा में किया पॉलिटिक्स से रिटायरमेंट का ऐलान, जानिए कब लेंगे सन्यास..

करीबी मंत्री का बयान पर सफाई

वहीं, मुख्यमंत्री के करीबी मंत्री संजय कुमार झा ने पीटीआई-भाषा को बताया, “2005 के बाद से हर बार प्रचार के दौरान अपनी आखिरी जनसभा में कुमार इस तरह कहते रहे हैं. इसका यह मतलब निकालना कि यह उनका आखिरी चुनाव है, यह बिल्कुल गलत है.” उन्होंने कहा, ‘‘जब तक जनता चाहती है, तब तक कुमार राज्य और यहां के लोगों की सेवा करते रहेंगे.’’

Get Today’s City News Updates

नीतीश पर तेजस्वी यादव का तंज

दूसरी तरफ आरजेडी नेता और महागठबंधन के सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव ने कहा, “हमारी बात सही साबित हुई. हम सब कह रहे थे कि नीतीश कुमार थक चुके हैं और अब बिहार पर शासन करने में वह सक्षम नहीं है. सेवानिवृत्ति उनके लिए अच्छी रहेगी. ’’

ये भी पढ़ेंः चुनाव के बीच में ही नीतीश सरकार को लगा तगड़ा झटका, दो मंत्रियों की गई कुर्सी

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here