पटनाः आरएलएसपी अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के सीएम नीतीश कुमार के साथ मुलाकात के बाद तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. तेजस्वी के बयान से विफरे कुशवाहा नीतीश के समर्थन में खड़े हो गए थे. इसके बाद दोनों नेताओं की मुलाकात से कुशवाही की घर वापसी की चर्चा जोर पकड़ रही था.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

हालांकि, उपेंद्र कुशवाहा ने इस मुलाकात को औपचाारिक भेंट बतलाई है. कुशवाहा ने राजनीतिक गलियारों में लगाये जा रहे तमाम कयासों पर विराम लगा दिया है. कुशवाहा ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात का कोई बड़ा सियासी मतलब नहीं निकाला जाए. मगर सियासी पंडित यह मानने को तैयार नहीं हैं.

नीतीश से औपचारिक भेंट

उपेंद्र कुशवाहा यह स्वीकार किया कि पिछले दिनों नीतीश कुमार से उनकी औपचारिक भेंट हुई थी. लेकिन, इसका  सियासी मतलब नहीं है. जिस प्रकार के कयास लगाए जा रहे हैं उसमें कोई दमम नहीं है. हाल-फिलहाल में कोई चुनाव भी नहीं होने जा रहा है कि इस मुलाकात का कोई निहिर्ताथ हो.

पार्टी का विलय संभव नहीं

उपेंद्र कुशवाहा साफ-साफ कहा है कि रालोसपा एक निबंधित पार्टी है. इसका विलय किसी दल में संभव नहीं है. पार्टी को हमारे नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने बड़े परिश्रम से खड़ा किया है. कुशवाहा के मुताबिक फिलहार आरएलएसपी प्रखंड स्तर पर कार्यक्रमों के जरिए पार्टी विसेतार के लिए रणनीति बना रही है. फिलहाल 104 विधानसभा क्षेत्रों में बैठक कर चुनाव परिणामों की समीक्षा की जायेगी.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here