पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है. एनडीए, महागठबंधन से लेकर उपेंद्र कुशवाहा की अगुआई वाली जीडीएसएफ और पप्पू यादव के गठबंधन के नेता ताबड़तोड़ रैली कर चुनावी माहौल बनाने में जुटे हैं. युवाओं को 10 लाख नौकरी देने के वादे से लेकर कई अन्य मुद्दे पर प्रचार कर रहे तेजस्वी यादव ने चुनावी सभा में अब नया नारा देना शुरू कर दिया है.

नेता प्रतिपक्ष और महागठबंधन से सीएम कैंडिडेट हर सभा में पढ़ाई, दवाई, कमाई, सिंचाई, कार्रवाई और सुनावाई का जिक्र करने लगे हैं. तेजस्वी यादव ने इसका जिक्र मटिहानी और हसनपुर की सभी में भी की है. हालांकि, उनके इस नारे के साथ ही दूसरे दल के घोषणा पत्र के वादे चुराने के आरोप लगने लगे हैं. दरअसल जीडीएसएफ में सीएम कैंडिडेट और रालोसपा उम्मीदवार उपेंद्र कुशवाहा ने पार्टी के मेनिफेस्टो में इस बात का जिक्र किया है.

Loading...

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

तेजस्वी को सीएम फेस मानने से किया था इनकार

बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन का हिस्सा रह चुके हैं. तेजस्वी यादव को सीएम फेस मानने से इनकार करते हुए कुशवाहा ने महागठबंधन से अलग होकर जीडीएसएफ का गठन किया है. कुशवाहा ने पार्टी की तरफ से घोषणा पत्र जारी कर कई वादे किए हैं जिसमें पढ़ाई, दवाई, कमाई, सिंचाई, कार्रवाई और सुनावाई का जिक्र मुख्य रुप से है.

कुशवाहा ने घोषणा पत्र में किया जिक्र

आरएलएसपी के घोषणा पत्र में पहले से जारी शिक्षा सुधार को प्राथमिकता दी गई है. पार्टी ने शिक्षा सुधार के लिए आंदोलनरत रहे उपेंद्र कुशवाहा के 25 सूत्री मांग को पहली प्राथमिकता दी है. उपेंद्र कुशवाहा की तरफ से पढ़ाई(गुणवत्तापूर्ण शिक्षा), कमाई(रोजगार),दवाई( स्वास्थ्य सुविधाएं), सिंचाई(किसानों का हितएवं उन्मुखीकरण), कार्रवाई (अपराधियों और भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध), सुनवाई(पक्षपात रहित न्याय व्यवस्था) जैसे मुद्दों पर प्रमुखता से फोकस किया गया है.

           आरएलएसपी का चुनावी घोषणा पत्र

ये भी पढ़ेंः अरविंद केजरीवाल के राह पर उपेंद्र कुशवाहा, घोषणापत्र में जेडीयू आरजेडी को चौकाने वाले कई एलान

RLSP को तोड़ चुके हैं तेजस्वी

वहीं, आरएलएसपी की तरफ से घोषणा पत्र में शामिल मुद्दे को तेजस्वी की तरफ से हाईजैक करने की कोशिश पर सवाल खड़े होने लगे हैं. इससे पहले तेजस्वी यादव आरएलएसपी को कमजोर कर चुके हैं. कुशवाहा के महागठबंधन में रहने के दौरान मोहम्मद कामरान को रातों-रात आरजेडी में तेजस्वी ने शामिल करा लिया था. जिससे कुशवाहा काफई नाराज हुए. इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी को पार्टी की सदस्यता दिलाते हुए टिकट थमा दिया था.

Get Daily City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here