पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार महागठबंधन का स्वरुप बदल गए हैं. चुनावी दंगल में महागठबंधन के साथ आरजेडी, कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियां हैं जिसका नेतृत्व तेजस्वी यादव कर रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष ने आज तक से बातचीत में महागठबंधन और एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान को लेकर बयान दिया.
Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

महागठबंधन में कांग्रेस के कमजोर होने के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि हम सब साथ हैं. कांग्रेस पुरानी पार्टी है. जिन सीटों पर कांग्रेस लड़ रही हैं, वहां आरजेडी ही है और जहां हम लड़ रहे हैं वहां बाकी सहयोगी दल हैं. वहीं, आरजेडी से अलग होने वाले कटाक्ष करते हुए कहा कि महागठबंधन एक-दूसरे को मजबूत करने के लिए होता है, अतिमहत्वाकांक्षा कहीं से भी ठीक नहीं है.

Loading...

पासवान परिवार से मधुर संबंध

वहीं, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी को लेकर कहा कि उन्हें भगाया नहीं गया बल्कि वो खुद गए थे. चिराग पासवान से रिश्ते पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मैं और चिराग 2010 में पूरी तरह से राजनीति में आए थे. मैं रणजी ट्रॉफी खेलकर आया था और चिराग फिल्म इंडस्ट्री से लौट थे. चिराग पासवान से हमारा पारिवारिक रिश्ता है. रामविलास पासवान, लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के दौर से हमारे रिश्ते हैं.

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी ने किया तिरंगे का अपमान! उपेंद्र कुशवाहा बोले-तिरंगा के सम्मान तक का ज्ञान नहीं है

एलजेपी से हाथ मिलाने पर तेजस्वी ने कहा कि हम बहुमत में आ रहे हैं, इसलिए क्यों किसी के पास जाएंगे, हम क्यों किसी का हाथ पकड़कर लाएंगे. चिराग खुद नीतीश कुमार के खिलाफ हैं और बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि 10 नवंबर को नीतीश कुमार की विदाई हो रही है और महागठबंधन सत्ता में आ रही है.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here