पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव में फिर से एनडीए ने महागठबंधन को परास्त कर दिया है. एनडीए एक बार फिर बिहार की सत्ता पर काबिज होगी. एनडीए के पास बहुमत से 3 सीटें ज्यादा हैं. हालांकि, इस बार सत्ताधारी पार्टी जेडीयू 43 सीट पर सिमट गई है. जिसके बाद नीतीश कुमार के सीएम बनने पर संदेह पैदा हो रहा है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

हालांकि, बीजेपी के बड़े नेता नीतीश कुमार को फिर से सीएम बनाने की बात कह रहे हैं. बिहार कैबिनेट में नीतीश कुमार के सहयोगी बीजेपी के सीनियर लीडर सुशील मोदी ने सीएम फिर से बनाने की बात कही है. मीडिया से बातचीत के दौरान डिप्टी सीएम ने कहा कि नीतीश कुमार ही एनडीए के मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे और इस बात में कोई दो राय नहीं है.

ये भी पढ़ेंः बीजेपी नेता ने सीएम की कुर्सी पर ठोका दावा, अब क्या करेंगे नीतीश

मीडिया से बातचीत में सुशील मोदी ने कहा कि “एग्जिट पोल के रुझान आने के बाद कार्यकर्ताओं और नेताओं में थोड़ी सी मायूसी जरूर हो गई थी. क्योंकि पार्टी के आकलन के मुताबिक एनडीए आसानी से बहुमत का आंकड़ा पार कर रही थी. लेकिन जब एग्जिट पोल में महा गठबंधन को भारी बढ़त दिखाई गई तो उससे कुछ बेचैनी जरूर हो गई थी, फिर भी इस बात का विश्वास था कि एनडीए आराम से सरकार बनाएगी और नतीजे हमारे पक्ष में ही आए हैं.”

ये भी पढ़ेंः बीजेपी के बड़े भाई की भूमिका में आते ही बढ़ी हलचल, गिरिराज सिंह ने नीतीश पर दिया बड़ा बयान

सुशील मोदी ने कहा कि, पीएम नरेंद्र मोदी, तत्कालीन अध्यक्ष अमित शाह और मौजूदा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी लगातार इस बात को दोहरा चुके हैं कि सीएम पद का चेहरा नीतीश कुमार हैं. कोई संशय नहीं है कि मुख्यमंत्री पद किसी और के पास जा सकता है. बीजेपी कार्यकर्ताओं और स्थानीय नेताओं की तरफ से बीजेपी का मुख्यमंत्री बनाने की मांग पर सुशील मोदी ने दो टूक कहा कि यह फैसला पार्टी के वरिष्ठ नेता करते हैं ना कि कार्यकर्ता.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here