अभी के समय में कोरोना वायरस दुनिया भर में जान लेने का मुख्य वजह बना हुआ है,वहीं दूसरी ओर घरेलू हिंसा और सुसाइड के केसेज में बढ़ते जा रहे हैं।ऐसा ही वाकया एक पटना के गौरीचक के बरावां गांव में देखने को मिला। जहां 35 साल के इंसान ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतक को धर्मेंद्र उर्फ बेलदार बिंद बताया गया है।

Loading...

इस बड़ी दुखद घटना का वजह पत्नी वियोग के रूप में उभरकर सामने आया है। पत्नी के वियोग में आकर शुक्रवार की देर रात धर्मेंद्र ने सुसाइड कर लिया। जो धर्मेंद्र की बूढ़ी मां उसके कमरे में आए तो उसने अपने बेटे को फांसी के फंदे पर लटकता पाया। क्योंकि धर्मेंद्र और उनकी मां उस घर में अकेले रहते थे।

Immediately Receive Daily CG Newspaper Updates

इसलिए इस बात का पता देर से चल सका। जिसके बाद उसने गांव वालों को बुलाया।गांव वालों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी। पुलिस तुरंत मौके पर आई और आकर को फंदे से उतारा, फिर मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया जा रहा है कि मृतक की पत्नी अक्सर अपने मायके पटना सिटी के बेगमपुर में रहती थी। जब बीते माह धर्मेंद्र अपने पत्नी को लाने मायके गया,

तो उसके साथ मारपीट की गई और उल्टे उस पर ही मारपीट कर मामला दर्ज करा दिया गया। जिसकी वजह से धर्मेंद्र को जेल जाना पड़ा। जेल से छूटते ही एक बार फिर धर्मेंद्र ने अपनी पत्नी को घर बुलाने की कोशिश की।इसके बावजूद भी धर्मेंद्र लगातार अपनी पत्नी से अपने साथ रहने की गुहार लगाता रहता था, क्योंकि उसकी मां बुढी थी तो वह अपने ससुराल रहने के लिए नहीं जा सकता था।

जब शुक्रवार को एक बार फिर उसकी पत्नी ने घर आने से इंकार कर दिया, तू इस बात पर धर्मेंद्र ने उससे मर जाने की बात कही, उसके बाद वह फासी के फंदे से झूल गया।जानकारी के मुताबिक से धर्मेंद्र की शादी 8 साल पहले हुई थी और उनके दो बच्चे भी हैं। फिलहाल पत्नी वियोग के अलावा कोई और वजह निकल कर सामने नहीं आई है।
Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here