JEHANABAD : बारामूला आतंकी हमले में देश की सुरक्षा करते शहीद हुए बिहार के दाे सीआरपीएफ जवानाें का अंतिम संस्कार आज उनके पैतृक गांव में किया गया. जैसे ही शहीद जवान का शव उनके गांव पहुंचा हर तरफ भारत माता के जयकारे लगने लगे. वहीं घर में शहीद के शव पहुंचते ही कोहराम मच गया.

आतंकवादियों के हमले में जहानाबाद जिला के रतनी फरीदपुर प्रखंड के आईरा गांव के रहने वाले लवकुश शर्मा का शव जैसे ही उनके गांव पहुंचा हर लोगों के आंखें भींग गई. दुख के इस क्षण में महौल उस समय और कारुणिक हो गया जब शहीद की विधवा ने अपने पति को अंतिम सलामी दी.वहीं शहीद की तीन साल की बेटी बार-बार अपने पाप को उठा रही थी. वह समझ नहीं पा रही थी कि उसके पाप क्यों नही जाग रहे हैं औऱ उनके घर पर इतनी भीड़ क्यों लगी है.

अपने वीर पुत्र की शहादत को नमन करने और उनकी आखिरी झलक पाने को काफी संख्या में स्थानीय लोगों का हुजूम गांव उमड़ा था. सभी ने अपने शहीद बेटे को श्रद्धांजलि दी. शहीद लवकुश शर्मा को जब उनके सात साल के बेटे ने मुखाग्नि दी तो वहां मौजूद हर शख्स रोने लगा.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here