पटना: बिहार विधान सभा चुनाव में आरजेडी इस बार कई बाहुबलियों को टिकट दिया है. राजद ने पटना के एक और बाहुबली रीतलाल यादव को टिकट दिया है. एबीपी से बातचीत में रीतलाल यादव ने अपनी बाहुबली वाली छवि पर कहा कि “मैं बाहुबली था, मैं बाहुबली हूं, और मैं बाहुबली रहूंगा  मगर जनता के समर्थन से”.

आरजेडी नेता रीतलाल यादव की पहचान दानापुर विधान सभा क्षेत्र में बाहुबली की रही है. 2010 में निर्दलीय चुनाव लड़ने के बावजूद 42 हजार वोट लाया था. हालांकि, 2015 में निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में जेल में रहते विधान परिषद का चुनाव जीत चुके हैं. फिलहाल रीतलाल यादव विधान पार्षद भी हैं.

रीतलाल यादव (फाइल फोटो)
रीतलाल यादव (फाइल फोटो)

लालू ने नहीं दिया था टिकट

रीतलाल यादव का कहना है कि 2009 में वे आरजेडी से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन लालू यादव ने उन्हें टिकट नहीं दिया. हालांकि, इस बार तेजस्वी यादव ने उन पर भरोसा जताया है और उन्हें युवा नेतृत्व पर पूरा भरोसा है. रीतलाल यादव ने का कहना है कि बीजेपी विधायक आशा ने दानापुर की जनता की आशा पर पानी फेर दिया है. आंचल फैलाकर धोखे से ले लिया था वोट. अब जनता की आंख खुल गई,जनता मेरे साथ है.

कई केस में आरोपित हैं रीतलाल

बता दें कि रीतलाल यादव बीजेपी नेता सत्यनारायण सिन्हा हत्याकांड मामले में आरोपित हैं, जिसका फिलहाल ट्रायल चल रहा है. रीतलाल को पुलिस ने 4 सितंबर 2010 को गिरफ्तार कर बेऊर जेल भेज दिया था. वहीं, ईडी ने 2012 में रीतलाल यादव पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया था जो एमपीएमएल के विशेष कोर्ट में लंबित है. आरजेडी नेता पर कई आपराधिक मामले कोर्ट में लंबित चल रहे हैं. कोर्ट में लंबित अन्य आपराधिक मामलों में रीतलाल जमानत पर चल रहे हैं.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here