अभी-अभी राजधानी पटना से बड़ी खबर सामने आ रही है. पटना के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच में 10 नए संदिग्ध मरीज को भर्ती किया गया है जिसमें आठ मरीज एक ही परिवार के हैं. परिवार का एक सदस्य सऊदी अरब से लौटा है. जिसके बाद परिवार के सभी सदस्यों को पीएमसीएच लाया गया है. सभी के ब्लड सैंपल लेने की प्रकिया की जा रही है. जिसकी पुष्टि अधीक्षक डॉ विमल कारक ने कर दी है. हालांकि राहत की खबर यह है कि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार अभी तक 72 लोगों के ब्लड सैंपल बिहार में लिए गये हैं, जिनमें सभी के रिपोर्ट नेगेटिव आये हैं.

बता दें कि कोरोना से बचाव के लिए बिहार सरकार पूरी तरह से सख्ती बरत रही है. सार्वजनिक स्थानों पर किसी तरह के कार्यक्रम आयोजन नहीं करने, सभी निजी सरकारी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, हॉस्टल को बंद करने के आदेश के बाद अब सरकार ने सोशल मीडिया को लेकर भी सख्ती बरतने का आदेश प्रशासन को दिया है. आदेश के अनुसार कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने वालों पर क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी. इसके लिए सभी जिला, अनुमंडल, प्रखंड के सरकारी अधिकारीयों को सोशल मीडिया में नजर बनाये रखने के आदेश दिए गये हैं.

साथ ही बिहार सरकार ने विभिन्न जिलों से अस्पताल से कोरोना संदिग्धों के बिना जांच कराये अस्पताल से भाग जाने, संदिग्ध होने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती नहीं होने की जिद करने वालों पर भी कार्रवाई के आदेश दिए हैं. सरकार कोरोना से बचाव के लिए पूरी तरह से सख्त दिखाई दे रही है. 31 मार्च तक बिहार के तमाम निजी सरकारी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, हॉस्टल को बंद करने के आदेश का उल्लंघन करने वाले कई स्कूल व कोचिंग के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. बता दें कि राजधानी पटना के पीएमसीएच से भी सोमवार को एक मरीज के भाग जाने की खबर सामने आई थी, एहतियात के तौर पर ऐसे मरीजों के खिलाफ अब कार्रवाई करने के आदेश दे दिए गये हैं.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here