पटना: पूर्व सांसद पप्पू यादव गुरुवार की सुबह शहर के अलग-अलग इलाकों में कचरे की सफाई कर रहे थे। गोला रोड सहित अन्य इलाकों में ट्रैक्टर और जेसीबी से कूड़ा उठाने के बाद पप्पू दीघा-आशियाना रोड पहुंचे जहां भारी संख्या में पुलिस बल ने उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया। वे कचरा लेकर एक मंत्री के आवास की ओर बढ़ रहे थे। 

इधर,  पुलिस का कहना था कि कूड़ा उठाने का काम नगर निगम का है। ऐसे में पूर्व सांसद भीड़ जमाकर विधि व्यवस्था को अस्त-व्यस्त कर रहे हैं। काफी देर तक पूर्व सांसद पप्पू यादव और पुलिस के बीच कहासुनी हुई। इसके बाद राजीवनगर थाने के समीप दीघा-आशियाना रोड पर पुलिस ने पूर्व सांसद से उनके ड्राइविंग लाइसेंस की मांग की। 

उन्होंने अपना लाइसेंस भी दिया लेकिन वह एलएमवी (लाइट मोटर वेकिल) का था। जबकि पप्पू यादव ट्रैक्टर चला रहे थे और उनका लाइसेंस एचएमवी (हेवी मोटर वेकिल) के तहत होना चाहिये था। उन्होंने जिस लाइसेंस को पुलिस के सामने पेश किया वह दिल्ली से बना था और 2017 में ही एक्सपायर हो चुका था। लिहाजा पुलिस ने पूर्व सांसद पर नये मोटर वेकिल अधिनियम के तहत पांच हजार रुपये का चालान काटा। पूर्व सांसद राजीवनगर थाने में बैठ गये।

उन्होंने उसी जगह चालान की राशि जमा कर दी। फिर ट्रैक्टर पर लदे कचरे को पुलिस ने कुछ दूरी पर ले जाकर नगर निगम की मदद से फेंक दिया। जबकि पप्पू यादव अपनी गाड़ी से वापस चले गये। इस दौरान दर्जनों जवानों, कई थानों की पुलिस और डीएसपी स्तर के अधिकारी मौके पर मौजूद थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here