मुंगेर: बिहार के मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों में झड़प हो गई है. इस दौरान कई राउंड गोलियां चली है जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई. लगभग आधा दर्जन लोग घायल हो गए हैं. दूसरी तरफ इस घटना में कोतवाली प्रभारी समेत तीन जवान भी घायल हो गए. पुलिस प्रशासन जल्द से मुर्ति विसर्जन कराना चाहती थी जिस पर विवाद बढ़ने से यह घटना हुई.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Loading...

बता दें कि मुंगेर जिला के तीनों विधानसभा क्षेत्र जमालपुर, तारापुर और मुंगेर  में प्रथम चरण में ही मतदान होना है. जिसकी वजह से प्रशासन प्रतिमा विसर्जन जल्द करवाना चाह रही थी. जानकारी के मुताबिक विसर्जन के लिए धीरे चल रही शादीपुर की प्रतिमा को दीनदयाल चौक के पास पूजा समिति से आगे बढ़ाने पर प्रशासन ने जोर दिया जिसका पब्लिक विरोध करने लगी.

ये भी पढ़ेंः चुनाव से पहले ही आरजेडी ने मान ली है हार! सीनियर लीडर का वीडियो तेजी से हो रहा वायरल

घटना में 7 लोग घायल

देखते ही देखते हालात बेकाबू होने लगा स्थिति को संभालने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज शुरु कर दी और पब्लिक ने पथराव. लगातार बिगड़ रहे हालात पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने गोलियां चलाई. इसमें कोतवाली थाना क्षेत्र के लोहा पट्टी निवासी 22 वर्षीय अनुराग कुमार की मौत घटनास्थल पर हो गई. वहीं, गोलीबारी में 7 अन्य लोग घायल हो गए.

पुलिस पर गोलीबारी करने का आरोप

मृतक के परिजनों और स्थानीय लोगों ने पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाया है. लोगों का कहना है कि पुलिस जल्दबाजी में प्रतिमा का विसर्जन करने कह रही थी, नहीं करने पर हम लोगों के साथ मारपीट और गोलीबारी की गई जिसमें एक की मौत हो गई.

ये भी पढ़ेंः ‘PM बनने के लिए तस्करों से पैसा लेते हैं नीतीश, हार के डर से बीजेपी ने हटाई तस्वीर’

मुंगेर एसपी ने दी सफाई

इस घटना के बाद मुंगेर एसपी लिपि सिंह ने सफाई दी है. एसपी का कहना है कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान शरारती तत्वों ने हंगामा किया है. गोलीबारी भी शरारती तत्वों ने ही की है. इस घटना में एक की मौत हुई है कई अन्य घायल हैं. एसपी के अनुसार कोतवाली थाना प्रभारी भी घायल है तथा पुलिस के भी तीन जवान घायल हुए हैं, फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here