पटना: बिहार में लंबे अरसे बाद नीतीश कैबिनेट का विस्तार किया गया. कैबिनेट विस्तार के बाद नीतीश कुमार की अध्यक्षता में पहली कैबिनेट की मीटिंग हुई जिसमें कई अहम प्रस्ताव पर मुहर लगी है. बिहार मंत्रिमंडल की बैठक में अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक स्थल बोधगया में 30 करोड़ रुपये की लागत से तीन सितारा होटल खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है.

वहीं, बोधगया में ही ग्लोवल लर्निंग सेंटर ‘नालंदा इंस्टीट्यूट ऑफ दलाई लामा’ की स्थापना के लिए 30 एकड़ जमीन 99 सालों की लीज पर देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. मंगलवार को हुई बैठक में कुल छह प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है. गया डोभी रोड, बोधगया में तीन सितारा होटल श्रेणी के होटल की स्थापना की जायेगी. इसके लिए बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नियमावली-2016 के तहत कुल 30 करोड़ 5 लाख 27 हजार रुपये की लागत से निजी पूंजी निवेश और वित्तीय प्रोत्साहन को भी स्वीकृति दी गई है.

अनुकंपा के आधार पर नौकरी के नियमों में बदलाव

वहीं, इसकी स्थापना करने से पूंजी निवेश के साथ-साथ कुल 78 कुशल कामगारों का प्रत्यक्ष नियोजन हो सकेगा. इन्हें मेसर्स बोधि होटल्स एंड रिसर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड संचालित करेगा. दूसरी तरफ होमगार्ड के आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी के नियमों में बदलाव किया गया है. कैबिनेट ने इसके लिए कुल 5.79 करोड़ रुपये मुक्त किए हैं. सांस्कृतिक कार्य निदेशालय के तहत जिला कला एवं संस्कृति पदाधिकारी के कार्यालयों के लिपिकीय संवर्ग के कर्मियों की नियुक्ति, प्रोन्नति और अन्य सेवा शर्तो के निर्धारण संबंधी प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here