पटनाः बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने नए कैबिनेट के गठन के लिए अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है. हालांकि, नये सीएम के ताजपोशी तक कार्यकारी सीएम के रुप में काम करेंगे. वहीं, नीतीश कैबिनेट को लेकर चर्चा तेज हो गई है.

नीतीश कैबिनेट में इस बार 8 विभागों में नए मंत्रियों को अवसर मिल सकता है. सीएम के रुप में नीतीश कुमार के नामों की घोषणा के बाद विभागीय मंत्रियों को लेकर अटकलें शुरू हो गई है. 8 मंत्रियों के हारने से नये चेहरों की इंट्री का रास्ता लगभग साफ हो गया है.

कई पुराने मंत्रियों को मिलेगा दुबारा मौका

वहीं, नीतीश कैबिनेट में काम कर चुके श्रवण कुमार, नरेंद्र नारायण यादव, विजेंद्र यादव, नंद किशोर यादव, प्रेम कुमार, राणा रंधीर सिंह सहित कई पुराने चेहरे शामिल हो सकते हैं. जबकि सामाजिक समीकरणों को साधते हुए नए लोगों को मंत्री बनना तय है.

ये भी पढ़ेंः खिंचतान के बीच हो गया खुलासा, आखिर कौन बनेगा बिहार का अगला सीएम

वहीं, इस बात की चर्चा जोरों पर है कि नीतीश के करीबी सुशील कुमार मोदी की कुर्सी इस बार जा सकता है. उनकी जगह बीजेपी 1989 में हुए राम मंदिर शिलान्यास के दौरान पहली ईंट रखने वाले कामेश्वर चौपाल को बिहार का उपमुख्यमंत्री बना सकती है.

दूसरी तरफ पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के पुत्र संतोष मांझी मंत्री बन सकते हैं इसके अलावा वीआईपी पार्टी से मुकेश सहनी का मंत्री बनना तय है. बता दें कि मुकेश सहनी को विधानसभा चुनाव में सिमरी बख्तियारपुर सीट से कड़े मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था. हालांकि, समझौते के तहत एमलसी बनना उनका तय है. ऐसे में मंत्री बनने के छह महीने के अंदर किसी एक सदन के सदस्य बन जाएंगे.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here