सिवानः बिहार के एक लाल ने कुछ ऐसा कमाल कर दिखाया है जिसकी हर तरफ प्रशंसा हो रही है. सिर्फ 11 साल की उम्र में बालक ने जो कर दिखाया है उसे बड़े-बड़े खिलाड़ी करने की सोचते रह जाते हैं. हुसैनगंज प्रखंड के मचकना निवासी रविशंकर श्रीवास्तव के पुत्र मानवेन्द्र का नाम महज 11 वर्ष की आयु में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Loading...

रोल बॉल खिलाड़ी मानवेन्द्र को स्केटिंग पर लांगेस्ट कोंगा के लिए ये उपलब्धि इतनी कम उम्र में ही हासिल हुई है. छठपूजा में मानवेन्द्र गांव पहुंचा इस दौरान लोगों ने उसे कंधे पर उठा लिया. वहीं, गांव में मानवेन्द्र का खूब अभिनन्दन भी हुआ. उसे हाल ही में गिनीज बुक का प्रमाणपत्र हासिल हुआ है.

बिहार का बढ़ाया मान

ग्रामीण बताते हैं कि मानवेन्द्र ने अपने परिवार के साथ-साथ गांव और जिले का मान भी बढ़ाया है. बता दें कि शिव गंगा रोलर स्केटिंग क्लब ने सबसे बड़ी कोंगा लाइन बना कर विश्व रिकॉर्ड कायम किया है जिसका एक सदस्य मानवेन्द्र भी है.

ये भी पढ़ेंः सोनू सूद से यूजर ने कहा ‘आपके लिए जान भी दे सकता हूं’, तो एक्टर ने दिया इस तरह जबरदस्त जवाब

लखनऊ में पढ़ाई कर रहे मानवेंद्र

मानवेंद्र अभी लखनऊ में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं. इसके अलावा ला मार्टिनियर कॉलेज में सातवीं के छात्र मानवेंद्र राष्ट्रीय स्तर के रोल बॉल खिलाड़ी भी हैं. पिता रविशंकर श्रीवास्तव के मुताबिक उनका बेटा 10वीं मिनी रोल बॉल राष्ट्रीय चैंपियनशिप 2018 में बड़ौदा में भाग ले चुका है. वहीं, मेरठ में 2018 में आयोजित 12वीं सब जूनियर यूपी रोल बॉल चैंपियनशिप में उसने कांस्य पदक अपने नाम किया था.

सोमवार को मिला रिकार्ड का पत्र

बता दें कि एक नवंबर 2019 को मानवेंद्र 308 अन्य बच्चों के साथ मिलकर शिव गंगा रोलर स्केटिंग क्लब बेलगावि में स्केट पर कोंगा लाइन बनाकर इतिहास रचने का दावा किया था. इसे विश्व रिकॉर्ड के रूप में दर्ज करने के लिए गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड कमेटी को सौंपा गया था. जिसका प्रमाण पत्र सोमवार को गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड टीम ने दिया है. मानवेंद्र रोल बॉल में एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी अपना नाम दर्ज करा चुके हैं.

Get Daily City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here