देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान सामूहिक रूप से धा/र्मिक कार्यक्रम को रोकने गई पुलिस टीम पर ह/मला कर दिया गया। उपद्रवी लोगों ने जमकर ब/बाल किया व प/त्थर बरसाए। प्रत्यक्षदर्शी ग्रामीणों के मुताबिक पुलिस को नि/शाना बनाकर उ/पद्रवियों ने फा/यरिंग भी की। इससे एक ग्रामीण घा/यल हो गया। हालांकि, एसपी डॉ. सत्य प्रकाश ने घटना की पुष्टि की है। मगर, किसी ओर से फा/यरिंग से इन्कार किया है। वहीं उ/पद्रवियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई करने की बात कही है।

लॉकडाउन के दौरान गीदड़गंज गांव के बड़ी मस्जिद में 100 से अधिक जमाती रुकने की खबर मिलने पर मंगलवार की शाम जांच करने पहुंची पुलिस पर स्थानीय लोगों ने जमकर प/त्थरबाजी और फा/यरिंग की। स्थानीय लाेगाें ने पुलिस को करीब एक किमी मदरसा हनफीया तक ख/देड़ दिया। बचाव में पुलिस ने भी लोगों पर ब/ल का प्रयोग किया है। ग्रामीणों ने पुलिस वाहन को बगल के तालाब में उल्टा दिया। इस घटना में आधे दर्जन पुलिस और दो ग्रामीणों की ज/ख्मी होने की सूचना मिली है। पुलिस के साथ हुए प/थराव में मस्जिद में ठहरे जमाती भागने में कामयाब रहे। उल्लेखनीय है कि को/राेना वा/यरस को लेकर 22 मार्च से जिले में लॉकडाउन है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करना और पुलिस द्वारा कार्रवाई करने पर उनपर ह/मला करना कहां तक उचित है। ऐसे हालात में एक जगह जमा होना अक्ल पर प/त्थर पड़ने जैसा ही है।

Loading...

दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मगरिव की तरह ही गीदड़गंज में नमाजी नमाज अदा कर रहे थे। मंगलवार को शाम पांच बजे अंधराठाढ़ी थाना पुलिस दल बल के साथ पहुंची। पुलिस के पहुंचते ही स्थानीय लोगों ने पुलिस पर प/थराव करते हुए गो/ली चला दी।

किसी अज्ञात ने फोन करके अंधराठाढ़ी सीओ और बीडीओ को गीदड़गंज गांव के बड़ी मस्जिद में में एक साथ नमाज पढ़ने की और बाहर से आए जमातियों की इक्ठ्‌ठा होने की सूचना दी थी। इसके बाद दोनो अधिकारियों के साथ पुलिस बल मौके पर गई और लोगों को लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन नहीं करने की अपील की। इतने में लोगों ने पुलिस पर प/थराव कर दिया है। हालांकि, गोली चलने की अभी तक कोई सूचना नहीं है। पुलिस इन लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कर रही है। ये सभी फरारा हैं। सभी को गि/रफ्तार कर जे/ल भेजा जाएगा। किसी को भी लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन नहीं करने दिया जाएगा। -डॉ. सत्यप्रकाश, एसपी।

पुलिस से जानकारी के अनुसार गीदड़गंज गांव में दो लोगों के गुट हैं। पहला गुट वसीम का है। उसी गुट के लोगों ने सीओ और बीडीओ को फोन करके एकसाथ नमाज और जमातियों के बारे में सूचना दी थी। इसके बाद जब बीडीओ, सीओ और पुलिस पदाधिकारी पहुंचे। और इसके बाद कमरुजुम्मा गुट ने उन पर हमला कर दिया। इस घटना में सीओ के भी घायल होने की सूचना आ रही है।

उल्लेखनीय है कि गीदड़गंज गांव में एक ही समुदाय अल्पसंख्यक लोग है। घटना वर्तमान मुखिया अोजेरा खातून के घर के बगल में हुई हैं। पुलिस पर गो/ली चलाने वाली उसी मोहल्ले के मो. मुसवा एवं अन्य बताए जाते हैं। घटना के बाद अंधराठाढ़ी थाना पुलिस किसी तरह जा/न बचाते हुए वहां से निकली। कुछ देर बाद झंझारपुर डीएसपी अमित शरण, रुद्रपुर थाना, अररिया थाना पुलिस दुबारा मौका ए वारदात पहुंची गांवों में जमाती समेत मोहल्ले के लोग नदारद हैं।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here