कोरोना संक्रमण काल में पंचांग के अनुसार साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को लगने जा रहा है. इस दिन को कार्तिम पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस बार का चंद्र ग्रहण वृष राशि में लगेगा. इस दिन नक्षत्र रोहिणी नक्षत्र रहेगा. इस ग्रहण का इन दोनों राशियों पर विशेष प्रभाव देखने को मिलेगा.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

ज्योतिषों का कहना है कि चंद्र ग्रहण के दौरान मेष राशि वालों को विशेष सावधानी बरतें. साल का आखिरी चंद्र ग्रहण उपच्छाया ग्रहण है. इसलिए भारत पर इसका प्रभाव नहीं पड़ेगा. शास्त्र के अनुसार जब किसी ग्रह पर ग्रहण लगता है तो उसकी शक्ति क्षीण यानि कमजोर हो जाती है. चंद्रमा को मन का कारक भी माना गया है.

धन का व्यय न करें

इन कारणों से मेष राशि वाले अधिक भावुकता में कोई भी कार्य करने से बचें. संयम और धैर्य बनाएं रखें. धन का व्यय न करें और उधार लेने से बचें. सेहत का ध्यान रखें. बता दें कि 30 नवंबर के दिन दोपहर 1.04 बजे से चंद्र ग्रहण लगना शुरू होगा और 5.22 मिनट कर रहेगा.

ग्रहण के बाद स्नान और पूजा करें

इस दौरान मिथुन राशि वालों को तनाव और चिंता से दूर रहना है. शुभ कार्य को करने से बचें. ग्रहण के दौरान भोजन आदि न करें. इस दौरान प्रभु का स्मरण करना चाहिए. ग्रहण के बाद स्नान करें और पूजा करें. इस दौरान वाहन आदि के प्रयोग से बचें. क्रोध और वाणी को दूषित न होने दें.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here