पटनाः बिहार विधानसभा के नये स्पीकर के रुप में पूर्व मंत्री विजय कुमार सिन्हा निर्वाचित हुए हैं. उन्होंने महागठबंधन के कैंडिडेट अवध बिहारी चौधरी को शिकस्त देते हुए स्पीकर चुने गए. हालांकि, वोटिंग के दौरान सदन में काफी हंगामा भी हुआ.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

सत्र के दौरान चार विधायकों के शपथ ग्रहण के बाद प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने सर्वसम्मति से स्पीकर के चयन का प्रस्ताव रखा. इसके बाद विपक्ष ने हंगामा शुरू करते हुए सीएम नीतीश कुमार, मंत्री अशोक चौधरी और मुकेश साहनी को सदन से बाहर निकालने की मांग करने लगे. वहीं, प्रोटेम स्पीकर विपक्ष की मांग मानते हुए मुकेश सहनी और अशोक चौधरी को सदन से बहार जाने का आदेश दिया. हालांकि, नीतीश कुमार सदन में ही मौजूद रहे.

मांझी ने जमकर लगाई फटकार

वहीं, सीएम नीतीश कुमार के सदन में मौजूद रहने पर नेता प्रतिपक्ष ने सवाल खड़े किये. इस पर प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने तेजस्वी को फटकार लगाई. उन्होंने कहा कि सीएम विधानसभा का नेता होता है. अध्यक्ष पद की चुनाव प्रक्रिया समाप्त होने और परिणाम सामने आने के बाद नीतीश कुमार ही नवनिर्वाचित स्पीकर को कुर्सी पर बैठाएंगे. ऐसे में उनका सदन में रहना जरुरी है इसमें कोई अनुचित बात नहीं है.

 

बिन विधायाक लालू भी रहते थे मौजूद

वहीं, जीतनराम मांझी ने पुराने दिनों का हवाला देते हुए तेजस्वी को कहा कि इस सदन ने राबड़ी शासनकाल में यह भी देखा कि लालू यादव सांसद थे विधायक नहीं थे, तब भी वो सदन में मौजूद थे. हालांकि यह कहने के बावजूद विपक्ष मानने को तैयार नहीं हुआ और गुप्त मतदान की मांग करते रहे.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here