गया: बिहार के गया जिले के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र इमामगंज प्रखण्ड के रानीगंज में बुधवार को फ्रांसीसी महिला सह संस्था की निदेशिका जेनी पेरे ने अपना 80वां जन्मदिन और संस्था का छठा वार्षिकोत्सव गांव के वृद्ध महिला और पुरुषों के बीच केक काटकर मनाया. इस मौके पर ग्रामीणों के बीच 500 कंबल और बच्चों के बीच पाठ्य सामग्री का वितरण किया गया.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Loading...

कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर आए कैनाल मैन लौंगी माँझी को जेनी पेरे द्वारा शॉल और आर्थिक सहायता की राशि देकर सम्मानित किया गया. मालूम हो कि बोधगया में जेनी पेरे द्वारा पिछले 20 वर्षों से गरीब छात्रों को शिक्षित और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सिलाई सेंटर, कंप्यूटर शिक्षण केंद्र संचालित किया जा रहा है. उनकी संस्था से मदद पाकर दर्जनों छात्र-छात्राएं आज सरकारी नौकरियों और विभिन्न निजी कंपनियों में नियुक्त हैं. वहीं महिलाएं आत्मनिर्भर बन सिलाई सेंटर तो कुछ सिलाई प्रशिक्षण केंद्र चला रही हैं.

ये भी पढ़ें: बाप रे, ऐसे दीवानगी! नीतीश के हर बार सीएम बनने पर अपनी अंगुली काट कर देवता को चढ़ाता है यह शख्स

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में जल्द ही रानीगंज के इस सुदूरवर्ती क्षेत्रो में भी निःशुलक शिक्षण संस्थान खोल शिक्षा की अलख और आत्मनिर्भर बनाने के गुर सिखाई जाएगी. इधर, मौके पर मौजूद वाटर मैन लौंगी मांझी ने कहा कि वह चाहते हैं कि उनके गॉव कोठीलवा में भी संस्था का एक स्कूल हो. इस संबंध में उन्होंने जेनी पेरे से बात की है. उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में शिक्षा के बदौलत ही लोग समाज के मुख्यधारा से जुड़े रहेंगे.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here