पटना: बिहार की नई नीतीश सरकार में 14 नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली है. इनमें से 7 नेता बीजेपी कोटे से 5 नेता जेडीयू कोटे से जबकि वीआईपी और हम पार्टी से एक-एक मंत्री ने शपथ ली है. बीजेपी और जेडीयू ने मंत्रीमंडल में जातीय समीकरण का खास ख्याल रखा है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

मंत्रीमंडल में दलित, यादव, भूमिहार, ब्रह्मण, राजपूत, कुर्मी, कोयरी जाति के नेता हैं. हालांकि, चौकाने वाली बात यह है कि पहली बार कोई भी मुसलमान मंत्री नीतीश कैबिनेट में नहीं है. बीजेपी की तरफ से बनाए गए 5 मंत्रियों में सबका ख्याल रखा गया है. जेडीयू अध्यक्ष और सीएम नीतीश कुमार कुर्मी समुदाय से आते हैं.

अलग-अलग जातियों से बने मंत्री

डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद वैश्य समाज, रेणु देवी-नोनिया, मंगल पांडे-ब्राह्मण, रामप्रीत पासवान-दलित, जीवेश कुमार मिश्र-भूमिहार, अमरेंद्र प्रताप सिंह-राजपूत, राम सूरत राय-यादव जाति से आते हैं. वहीं, जेडीयू के भी सभी पांच मंत्री अलग-अलग जाति के हैं. लेकिन अब तक मुस्लिम चेहरे को मंत्रीमंडल में जगह देने वाली जेडीयू इस बार किसी भी मुस्लिम नेता को मंत्री नहीं बनाया है.

मंत्री मेवालाल चौधरी

ये भी पढ़ेंः नीतीश कुमार के सीएम पद की शपथ लेते ही सुशील मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई, भेजा खास संदेश

वहीं, जेडीयू के 5 मंत्रियों के लिस्ट में विजय चौधरी-भूमिहार, विजेंद्र यादव-यादव, अशोक चौधरी-पासी, मेवालाल चौधरी-कुशवाहा, शीला मंडल-ईबीसी से आते हैं. जबकि संतोष मांझी की जाति मुसहर और मुकेश सहनी की जाति मल्लाह़ है.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here