पटनाः आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का कथित ऑडियो वायरल होने के बाद सियासत तेज हो गई है. डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि झारखंड सरकार से मांग करते हैं इस पर जो वैधानिक कार्रवाई करें. वहीं, केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाए.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

तारकिशोर प्रसाद का कहना है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव लोकतंत्र की दुहाई दे रहे थे, लेकिन इस तरह का अलोकतांत्रिक आचरण करना उचित नहीं है. पहली बार चुनकर आए एक महादलित समाज के विधायक ललन पासवान को लालू यादव की ओर से जेल से प्रलोभन देना लोकतंत्र की हत्या करना है.

ये भी पढ़ेंः भड़के जीतनराम मांझी ने तेजस्वी की लगाई क्लास, कहा-याद कीजिए लालू कैसे सदन में रहते थे मौजूद

डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद का कहना है कि तेजस्वी यादव और लालू यादव की पोल खुल गई क्योंकि उन्होंने समाज के कमजोर वर्ग को ही चुना. उपमुख्यमंत्री ने आगे कहा कि जेल और रिम्स भी झारखंड सरकार के अधीन है. झारखंड सरकार से मांग करते हैं इस पर जो वैधानिक कार्रवाई हो वो करें.

ये भी पढ़ेंः लालू का ऑडियो वायरल होते ही अंडरग्राउंड हुआ सबसे खास सेवक, मचा बवाल

वहीं, केंद की नरेंद्र मोदी सरकार से इस पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच करने की मांग की. वहीं, ललन पासवान ने कहा कि लालू यादव का फोन आने पर मेरे पीए ने उठाया. मुझे लगा कि मुझे वह बधाई दे रहे है मैंने आदर करते हुए उनसे बात की लेकिन बाद में उन्होंने मुझे प्रलोभन दिया जिसको सुनकर मैं शॉक हो गया.

Get Daily City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here