कबाड़ रेल काेच में खुलेंगे कैफेटेरिया, दानापुर में प्रयोग सफल होने के बाद सभी प्रमुख स्टेशनों पर खोलने की तैयारी

आपने चलती हुई ट्रेन और पानी के ऊपर तेज रफ्तार से चलती हुई जहाज पर बैठकर चाय और समोसे का मजा जमकर लिया होगा। आप अपने शहर की नामी-गिरामी होटलों में भी बैठ कर कई बार चाय की चुस्की ले चुके होंगे, लेकिन क्या आपने कभी कबार रेल काेच में बैठकर चाय पीने के बारे में सोचा है। जी हां बिहार की राजधानी पटना स्थित दानापुर रेलवे स्टेशन पर बहुत जल्द रेलवे द्वारा इस प्रोजेक्ट की शुरुआत होने जा रही है।

Loading...

दानापुर स्टेशन पर कबाड़ हो चुके काेच में कैफेटेरिया खुलने के बाद अब अासनसाेल में भी ऐसा किया गया है। इस कड़ी काे अागे बढ़ाते हुए पूर्व मध्य रेल के सभी प्रमुख स्टेशनाें पर काेच कैफेटेरिया खुलेगा। रेल यात्रियाें काे भारतीय रेल के बारे में अच्छी फीलिंग कराने के तहत काेच कैफेटेरिया खाेलने की तैयारी है। इससे रेलवे काे बिना किसी अतिरिक्त बजट के कमार्इ हाेगी अाैर लाेगाें काे अलग व सुखद एहसास हाेगा। नॉन फेयर रेवेन्यू (एनएफआर) नीति के तहत रेलवे की आय बढ़ाने के लिए कबाड़ कोच को रेस्तरां में तब्दील किया जाएगा। यह आम यात्रियों और आम जनता दोनों काे सेवाएं देगा। इससे पहले पुराने कोच में बदलाव कर मैसूर में क्लास रूम बनाया गया है। वहीं, भोपाल मंडल के अशोकनगर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के स्क्रैप का अनूठा प्रयोग करते हुए सुंदर मोर बनाया है, जो स्टेशन परिसर में बने गार्डन में लगाया गया है। हालांकि, पुराने स्टीम इंजन काे मंडल व जाेनल कार्यालयाें के अलावा प्रमुख स्टेशनाें पर भी डिस्पले किया गया है। पूर्व मध्य रेल में रेल काेचाें से बाकायदा रेल ग्राम बनाया गया है, जाे देखने लायक है।

सस्ती दर पर कर सकेंगे लंच-डिनर : दानापुर में एक अनफिट काेच काे यांत्रिक विभाग के अधिकारी-कर्मचारियाें ने रात दिन एक कर काेच कैफेटेरिया में बदला है। यह काेच पटरी पर चलने लायक नहीं था। उसे डेकोरेट कर खूबसूरत रेस्तरां बनाया गया है। इस काेच कैफेटेरिया में लाेग सस्ती दर पर ब्रेक फास्ट, लंच और डिनर कर सकेंगे। लोगों को आकर्षित करने के लिए काेच कैफेटेरिया के इंटीरियर को काफी खूबसूरत बनाया गया है। इसकी दीवारों पर पेंटिंग के अलावा पुरानी चीजें लगाई गई हैं। हर टेबल पर लाइट के लिए केतली बल्ब लटकाए गए हैं, जो इसे लग्जरी लुक दे रहा है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here