पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव में एलजेपी ने एनडीए से अलग होते हुए चुनाव लड़ा था. भले ही एलजेपी को चुनाव में मात्र एक सीट मिला लेकिन जेडीयू को 43 सीट पर सिमटने पर मजबूर कर दिया. हालांक, चुनाव में एलजेपी के एक विधायक जीतने के बाद पार्टी में बगावत हो गया है. कई नेताओं ने चिराग पासवान पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान पर विधानसभा चुनाव के दौरान टिकट बेचने का आरोप लगा है. बागी नेता केशव सिंह, रामनाथ रमण, कौशल किशोर सिंह और दीनानाथ क्रांति की ओर से धोखाधड़ी के विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कराने की बात कही गई है.

Loading...

कार्यकर्ताओं के साथ ठगी!

केशव सिंह ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि चिराग पासवान ने ठगी के लिए पूरे बिहार में बीते वर्ष फरवरी में 25 हजार प्राथमिक सदस्य एवं दो लाख विज्ञापन के लिए पैसा जमा करने का अभियान चलाया था. लोजपा की ओर से कहा गया कि पार्टी उन्हीं को विधानसभा का टिकट देगी जो इस मानक को पूरा करेंगे. झूठ का सहारा लेकर 94 विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के कार्यकर्ताओं से सदस्यता व विज्ञापन के नाम पर ठगी की गयी.

जेडीयू में शामिल होंगे बागी नेता

बता दें कि बागी नेता जेडीयू का दामन थामेंगे. उन्होंने कहा कि 18 फरवरी को जदयू के कर्पूरी सभागार में बागी नेता जदयू नेताओं के साथ मिलन समारोह का आयोजन करेंगे. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आरसीपी सिंह व अध्यक्षता जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा करेंगे.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here