पटनाः लोजपा के संस्थापक और दिवंगत केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कल राजधानी पटना में पैतृक गांव शहरबनी के बाद श्राद्ध कार्यक्रम हुआ. इसमें भाग लेने के लिए कई सियासी दिग्गज पहुंचे. खासकर, सीएम नीतीश कुमार, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शिरकत की. सियासत में एक-दूसरे के खिलाफ ताल ठोक रहे चिराग ने सीएम नीतीश का पैर छूकर आशीर्वाद लिया.

वहीं, चिराग पासवान इन दिनों रामविलास की पहली पत्नी के साथ बेहतर होते पारिवारिक रिश्ते की वजह से चर्चा में हैं है. सोमवार को बेटे चिराग पासवान अपने पैतृक गांव शहरबन्नी में पिता रामविलास पासवान की अस्थियों का विसर्जन करने पहुंचे थे. इसके अलावा उनके गांव और पड़ोसी गांवों के लोग शामिल हुए. इस दौरान चिराग पासवान की बड़ी मां (रामविलास पासवान की पहली पत्नी) से भी मुलाकात हुई.

ये भी पढ़ेंः बेटे के लिए उमड़ा रामविलास की पहली पत्नी का प्यार, फफकते हुए बोली, वो तो नहीं रहे अब चिराग ही…

इसी दौरान चिराग पासवान ने अपनी बड़ी मां यानी रामविलास पासवान की पहली पत्नी राजकुमारी देवी के पैर छूकर आशीर्वाद लिया. चिराग और राजकुमारी देवी में पहले बात नहीं होती थी. एनबीटी से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि अब चिराग ही हमारा बेटा है. हमें अब उसे ही देखना होगा. वहीं, फफकते हुए बोलीं, वो तो रहे नहीं, अब यही बेटा सहारा है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

चिराग की हर बात मानेंगी बड़ी मां

एनबीटी से खास बातचीत में चिराग की बड़ी मां ने पिता की अनुपस्थिति में चुनाव लड़ने पर कहा कि आशीर्वाद तो हम यही शर्त पर देंगे कि हमरो अब वही एगो (एक) बेटा हैं. पापा के रहते हुए, वह हमें नहीं देखते थे. लेकिन अब उ देखई छ हमरा (वह मुझे अब देख रहे हैं). वो जो कहेगा अब हम सुनेंगे, हम भी जो कहेंगे, वो अब सुनेंगे.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here