पटना: एलजेपी संस्थापक और केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान के निधन ने पार्टी के चुनाव प्रचार की गति को धीमा कर दिया है. हालांकि, एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने फिर से मोर्चा संभाल लिया है. पारिवारिक जिम्मेवारियों की वजह से घर से बाहर नहीं निकल रहे है चिराग़. हिंदू परम्परा के हिसाब से 10 दिन के बाद पिता का श्राद्ध कर्म करके हीं घर निकल सकते हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

वहीं, चिराग पासवान ने घर पर हीप्रत्याशीयों के साथ बैठक की है. वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पहले चरण के प्रत्याशियों से बात करते हुए चिराग ने कहा-मैं बिहारी हूँ मुझे गर्व है बिहारी होने पर,साथ हीं अपने प्रत्यासियों को याद दिलाया कि चुनाव का अहम मुद्दा सिर्फ बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट है.

चिराग ने किया चुनाव का आगाज

पितृशोक से लेकर पार्टी की चुनाव में जिम्मेदारी तक चिराग पासवान ने मजबूती से खड़े रहे हैं. चिराग पासवान ने स्पष्ट किया है कि लोजपा प्रत्याशी धर्म जाति पर नहीं सिर्फ बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट पर हीं वोट मागेंगे. चिराग ने विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग बांटो और राज करो की राजनीति करते हैं.

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी ने नीतीश कुमार को दिया चैलेंज, कहा-है हिम्मत तो मेरे खिलाफ यहां से लड़ लीजिए चुनाव

पीएम से दिल का रिश्ता

एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान के निशाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रहे. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में बिहारीयों को बिहार में आने से रोकने वालों के नेतृत्व में चिराग पासवान काम नहीं कर सकता. मुख्यमंत्री अफसरों के इशारों पर काम करते हैं. चिराग ने यह भी कहा कि लोग प्रेस वार्ता में मेरा नाम सुन कर लोग भाग जाते है.

Get Today’s City News Updates

प्रधानमंत्री की तस्वीर नीतीश कुमार को लगाने कि ज़रूरत है. हमारी सोच प्रधानमंत्री से मिलती है. प्रधानमंत्री से दिल का रिश्ता है हमारा.प्रधानमंत्री ने एक पिता के जैसे मेरा साथ दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here