मुज्जफरपुर| मुज्जफरपुर में एक बीए फर्स्ट ईयर की एक छात्रा अखाराघाट पुल से बूढी गंडक नदी (Budhi Gandak River) की तूफानी धारा में छलांग लगा दी | जब इस घटना की सूचना पुलिस को दी गई तब पुलिस ने अपने इलाके का मामला न बताते हुए जाँच नहीं की और पुलिस थाना क्षेत्र के विवाद में फंस गयी. इससे आक्रोशित लोगों नें जमकर बवाल किया और अखाराघाट पुलिस (Akharaghat Police) के सामने जमकर हंगामा व आगजनी की | बाद में आपदा पदाधिकारी की पहल पर जब एनडीआरएफ (NDRF) को सर्च के लिए भेजा गया तब मामला शांत हुआ | घटना अहियापुर थाना इलाके की है |

छात्रा के पिता बलिराम साह ने बताया कि मोनिका बीए फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट है| स्थानीय स्तर पर वह एक कोचिंग में भी पढ़ती थी| घटना के वक्त मोनिका और कोचिंग संचालक कुन्दन मिश्रा साथ थे| दोनों के बीच मोबाइल की छीना झपटी हुई और छात्रा ने बूढी गंडक में छलांग लगा दी जिसको अभी तक ढूँढा नहीं जा सका है|

जानकारी के मुताबिक परिजन भी उस वक्त दोनों के पीछे मौजूद थे| मोनिका के पिता ने दौड़कर पुल के दूसरे किनारे स्थित सिकन्दरपुर ओपी को इसकी जानकारी दी तो कहा गया कि मामला अहियापुर क्षेत्र का है| अहियापुर पुलिस ने फोन पर कहा कि अगली सुबह देखा जाएगा और इस घटना को नजरंदाज करने की पूरी कोशिश की | अब देखना ये है की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस क्या इसे प्यार में झड़प के मामले से तहकीकात शुरू करती है या कुछ और |

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here