पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद नरेंद्र मोदी के तथाकथित हनुमान चिराग पासवान की मुश्किल बढ़ सकती है. लोजपा संस्थापक रामविलास पासवान के निधन से खाली पड़े राज्यसभा सीट पर उनकी पत्नी रीना पासवान की नजर है. लेकिन चिराग के कारण यह मुमकिन नहीं दिख रहा है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

Loading...

चिराग पासवान को बीजेपी तगड़ा झटका देने के चक्कर में है. चिराग पासवान अपनी मां रीना पासवान को प्रत्याशी बनाना चाहते हैं, लेकिन जेडीयू की नाराजगी के चलते ऐसा होता नहीं दिख रहा है. जेडीयू ने स्पष्ट कर दिया है कि वह एलजेपी के प्रत्याशी को किसी भी सूरत में सपोर्ट नहीं करेंगे.

एलजेपी ने जेडीयू को पहुंचाया नुकसान

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में चिराग पासवान एनडीए गठबंधन से बाहर जाकर नीतीश कुमार के कैंडिडेट्स के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारे थे. जिसके कारण जेडीयू को भारी नुकसान झेलना पड़ा. सीएम नीतीश समेत तमाम जेडीयू के नेता आरोप लगाते रहे हैं कि एलजेपी की वजह से बिहार चुनाव में जेडीयू कम सीटें जीत पाई है.

ये भी पढ़ेंः बेटे के लिए उमड़ा रामविलास की पहली पत्नी का प्यार, फफकते हुए बोली, वो तो नहीं रहे अब चिराग ही…

43 सीट पर सिमट गई जेडीयू

बता दें कि विधानसभा चुनाव में आरजेडी को 75, बीजेपी को 74 और जेडीयू को 43 सीटें मिली है. विधानसभा चुनाव में एलजेपी की वजह से जेडीयू के प्रदर्शन में भारी गिरावट आ गई. यहीं कारण है कि राज्यसभा चुनाव में जेडीयू किसी भी सूरत में एलजेपी प्रत्याशी को सपोर्ट नहीं करेगी.

Get Daily City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here